जब बेटे ने बताई मां की हत्‍या की आंखों देखी कहानी, हैरान रह गए पुलिसवाले

0

परवेज अख्तर, सिवान : बिहार के सिवान जिले के बसंतपुर के सेरिया गांव में रविवार की रात दहेज लोभियों द्वारा की गई विवाहिता की हत्या के मामले में तीन लोग नामजद किए गए हैं। पुलिस ने मंगलवार को तीनों आरोपितों को जेल भेज दिया। मृतका की भाभी बैजू बरहोगा निवासी सुरेश राय की पत्नी कांति देवी के बयान पर बसंतपुर थाना कांड संख्या 108/18 दर्ज की गई है। वहीं इस मामले में बेटे पंकज ने घटना के बाद पुलिस के समक्ष रविवार की रात किस तरह से प्रभावती की हत्या को अंजाम दिया गया, उसका सारा वाक्या बयां किया है। मृतका के पुत्र पंकज ने बताया कि रविवार की रात मां-पापा और मैं छत पर सोए थे। इसके बाद मां के साथ सभी अचानक रात में मारपीट करने लगे। जब मैंने उठा और इसके बारे में पूछा तो पापा ने मुझे ले जाकर कोठरी में बंद कर दिया और चुपचाप रहने को कहा। कोठरी की खिड़की से मैं सबकुछ देख रहा था। पापा सुदिष्ट राय, दादा पुण्यदेव राय तथा दादी माया देवी मां के साथ इस घटना को अंजाम दिया। उधर मृतका की भाभी द्वारा दिए गए बयान में कहा गया है कि मेरी ननद प्रभावती देवी की शादी सेरिया निवासी पुण्यदेव राय के पुत्र सुदिष्ट राय के साथ वर्ष 2000 में हुई थी। मेरी ननद प्रभावती देवी को पति, सास तथा श्वसुर हमेशा दहेज के लिए प्रताडि़त किया करते थे। इससे तंग आकर 2013 इन लोगों के विरुद्ध बसंतपुर थाना कांड संख्या 118/13 दर्ज कराई गई थी, जिसे पंचायती के माध्यम से 12 जनवरी 18 को सुलह कर लिया गया, लेकिन इनलोगों के आचरण में बदलाव नहीं आया। सोमवार की अल सुबह सूचना मिली कि प्रभावति की हत्या ससुराल वालों ने कर दी। जब मैं गांव के कुछ लोगों के साथ वहां पहुंची तो प्रभावती का शव छत पर था। उसके गले पर काला निशान था,जिह्वा बाहर निकला हुआ था तथा काफी मात्रा में ब्लड जमा हुआ था। मृतका प्रभावती के पति सुदिष्ट राय, ससुर पुण्यदेव राय तथा सास माया देवी को अभियुक्त बनाया गया है। सोमवार को पुलिस ने तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर मंगलवार को जेल भेज दिया[sg_popup id=”5″ event=”onload”][/sg_popup]

Loading...