शिक्षा विभाग के समीक्षा बैठक में गुणवतापूर्ण शिक्षा पर दिया जोर

0

भवन निर्माण मामले में सभी बीईओ को एक सप्ताह के अंदर कार्यवाई करने का दिया निर्देश

प्रवेज़ अख्तर/सिवान- शनिवार को समाहरणालय स्थित सभागार में जिला पदाधिकारी महेंद्र कुमार की अध्यक्षता में शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक आयोजित किए।समीक्षा में गुणवतापूर्ण शिक्षा पर विशेष जोर दिया। इसके लिए सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को रिमिडियल कक्षाओं के संचालन का निरीक्षण हेतु नामित करने का निर्देश दिया। डीएम द्वारा निर्देश दिया गया कि अर्धवार्षिक एवं वार्षिक मूल्यांकन के सी, डी एवं ई ग्रेड प्राप्त करने वाले बच्चों का तुलनात्मक अध्ययन कर गुणवतापूर्ण शिक्षा का आकलन किया जाए। जिन विद्यालयों में सी, डी एवं ई ग्रेड बच्चों की संख्या बढ़ेगी वहां के प्रधानध्यापक, शिक्षक एवं संकुल समंवयक पर जिम्मेदारी तय की जाएगी। डीएम ने यह भी बताया कि जिन विद्यालयों में रिमिडियल कक्षाओं का संचालन अच्छा होगा वहां के एचएम को जिला स्तर पर प्रोत्साहन दिया जाएगा। इसके बाद छात्रों के बैंक खाता खोलने पर बल दिया गया। अभी तक जिले में मात्र 68 प्रतिशत बच्चों का खाता खुला है। जिला में चार लाख 41 हजार 254 बच्चें नामांकित है तथा दो लाख 99 हजार 627 बच्चों का खाता खुला है इसपर नाराजगी जताई। तथा सभी बीईओ को अंतिम चेतवानी दिया कि जल्द से जल्द सभी छात्रों का खाता खोलवा ले। अगली बैठक में जिस प्रखंड में 80 प्रतिशत से कम खाता खुला पाया गया तो संबंधित बीईओ पर प्रपत्र क गठित करने को कहा। साथ ही डीएम ने सभी विद्यालयों में मुहिम पंजी को संचारित करने का निर्देश दिया गया।

जो बच्चे विद्यालय में नही आ रहे है उनका नाम छात्रोपस्तिथि पंजी से हटाकर मुहिम पंजी में अंकित करने को कहा। तथा बीईओ को छात्रोपस्तिथि की सही जानकारी देने को कहा। जिस विद्यालयों में 75 प्रतिशत छात्रोपस्थिति सुनिश्चित नही होने के कारण जिस प्रधानध्यापकों का वेतन बंद है वहां छात्रोपस्तिथि के संबंध में प्रतिवेदन उपलब्ध कराने को कहा। साथ ही सभी बीईओ को निर्देश दिया की वितीय वर्ष 2017-18 में निर्गत राशि का कितने विद्यालयों ने छात्र-छात्राओं के खाते में राशि अंतरित करने हेतु बैंक एडवाइस बैंक में जमा किए है इसकी संख्या सोमवार तक उपलब्ध कराने को कहा। वही एसएसए अंतर्गत असैनिक निर्माण कार्य की प्रगति की साइटवार समीक्षा डीएम ने किया। इसमे डीपीओ एसएसए समर बहादुर द्वारा बताया गया कि अभी तक कुल 58 विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश निर्गत किया जा चुका है। प्रधानाध्यापकों द्वारा 62 लाख रुपए से अधिक की राशि एसएसए कार्यालय में वापस की गई है। समीक्षा के क्रम में मध्य विद्यालय पचरुखी, उत्क्रमित मध्य विद्यालय शाहपुर महाराजगंज, नया प्राथमिक विद्यालय हहवाटोला, नया प्राथमिक विद्यालय शेखपुरा, प्राथमिक विद्यालय जयजोर कन्या आंदर, नया प्राथमिक विद्यालय बिठुना, नया प्राथमिक विद्यालय लहेजी टोला, मध्य विद्यालय नबीगंज एवं उत्क्रमित मध्य विद्यालय धोबवलिया पर प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश अनुपालन संबंधित प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी द्वारा नही किए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एक सप्ताह के अंदर कार्यवाई करते हुए कांड संख्या के साथ प्रतिवेदित करे। मौके पर डीईओ चंद्रशेखर राय, डीपीओ एसएसए समर बहादुर, डीपीओ स्थापना अमेरिका प्रसाद, डीपीओ एमडीएम संघमित्रा वर्मा, सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी समेत अन्य उपस्थित थे।