दरवाजे पर शव जलाने के आरोप में 10 पर प्राथमिकी

0
shav

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के जी. बी. नगर तरवारा थाना क्षेत्र के महम्मदपुर पट्टी निवासी रामलोचन सिंह की पत्नी पत्नी देवपति देवी ने गुरुवार को 10 लोगों पर दरवाजे पर शव जलाने की प्राथमिकी दर्ज कराई है। बताया जाता है कि जीबी नगर थाना क्षेत्र के मोहम्मदपुर पट्टी गांव में पांच दिन पूर्व एक विवाहिता की हत्या फांसी के फंदे पर लटका दिया था। इस दौरान सूचना देने गए चचेरा देवर अनुज कुमार सिंह को बंधक बनाकर मृतका के बहनोई और कुछ शरारती तत्वों द्वारा जमकर पिटाई कर दी गई थी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। जब पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया तो मृतका के बहनोई ने दबंगई दिखाते हुए महिला के शव को श्मशान घाट में नहीं जला कर सूचना देने गए अनुज सिंह के दरवाजे पर जला दिया। इसको लेकर गांव में दोनों पक्ष में तनाव व्याप्त है। पुलिस ने बताया कि दबंगों ने आसपास के लोगों में खौफ पैदा करने तथा पुलिस को चुनौती देते हुए हथियार एवं लाठी-डंडे से लैस होकर विवाहिता का शव श्मशान घाट में नहीं जलाकर उसके दरवाजे पर जला दिया। इंस्पेक्टर अकील अहमद ने बताया कि पुलिस बल के साथ महमदपुर पट्टी गांव में पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि ऐसा करने वाले दोषियों को हर हाल में नहीं बख्शा जाएगा। उन्होंने गांव के लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस तरह जघन्य अपराध का पुरजोर विरोध करना चाहिए ताकि अपराधियों के मंसूबों पर पानी फिर सके। अपराध नियंत्रण में नि:संकोच होकर पुलिस को साथ दें ताकि सही समय पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर घटना से पर्दा उठा सके। साथ ही दोषियों पर कार्रवाई की जा सके। इंस्पेक्टर अकील अहमद ने बताया कि अनुज सिंह के दरवाजे पर शव जलाने के मामले में रामलोचन सिंह की पत्नी देवपति देवी ने मोहम्मदपुर पट्टी गांव के कांता कुमार सिंह उर्फ भुटूर सिंह, बिरला सिंह, चंद्रकेतु सिंह, नन्हकू सिंह, टुनटुन सिंह, मनीष सिंह, अमित सिंह, रवि सिंह, हिमांशु सिंह, आशीष राय, जगदीशपुर गांव के विजय कुमार सिंह को नामजद किया। उन्होंने यह आरोप लगाया है कि हमारे घर के तीन वृद्धों रामलोचन, बैकुंठ सिंह तथा मुझ चिता पर फेंककर जला देने का प्रयास किया गया, लेकिन ग्रामीणों के विरोध करने पर हमलोगों की जान बच सकी।