हसनपुरा के कोड़र में किसानों का 30 बीघा गेहूं का फसल जलकर हुआ राख

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के एमएच नगर थाने व प्रखंड के शेरही पंचायत के कोड़र गांव में रविवार की दोपहर बिजली के शार्ट सर्किट से हुई अगलगी में किसानों के 20 बीघा से अधिक गेहूं की फसल जलकर राख हो गयी. अगलगी की घटना के बाद स्थानीय ग्रामीण जलते गेहूं की फसल की ओर दौड़ पड़े और आग बुझाने की जुगत करने लगे. आग इतनी भयावह थी कि देखते ही देखते तकरीबन 20 बीघा से अधिक गेहूं की फसल जलकर राख हो गयी. जिन किसानों की फसल जली है उनमें जीवन कुमार, बलिराम सिंह, प्रभुनाथ मांझी, विद्यानंद सिंह, सत्यदेव सिंह, सूरज मांझी, राम अयोध्या मांझी इत्यादि शामिल हैं. घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि कोड़र चंवर में बिजली तार का जाल बिछा हुआ है. दोपहर के समय अचानक ग्यारह हजार बिजली के तार से शॉर्ट शर्किट करने से निकली चिंगारी से गेंहू की फसल को अपने आगोश में ले लिया. उसके बाद देखते ही देखते गेंहू के कई बीघा फसल जलकर राख हो गई.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

ग्रामीणों द्वारा गेहूं के फसल में लगी आग को बुझाने के लिए हरे पेड़ पौधे को काटकर आग बुझाने का प्रयास किया गया. लेकिन तेज हवा के होने के कारण आग पर काबु पाना काफी मुश्किल था. अंत में ग्रामीणों द्वारा आग पर काबू नहीं पाया गया तो दरौंदा फायर बिग्रेड के चालक सौरव कुमार को इसकी सूचना दी गई. जिसके बाद फायर बिग्रेड की गाड़ी घटनास्थल पर पहुंचकर आग बुझाने का प्रयास की. तब तक देखते ही देखते कई बीघा गेहूं की फसल जलकर राख हो गया. इधर घटना की सूचना मिलते ही एमएच नगर थानाध्यक्ष अभिषेक कुमार दरौंदा थानाध्यक्ष अजीत कुमार सिंह एवं अंचलाधिकारी पारसनाथ राय घटनास्थल पर पहुंचकर अगलगी की घटना की जांच की.

वहीं दरौंदा थाना क्षेत्र के राजापुर पसिवड़ गांव में भी गेंहू के फसल में आग लग गई. जिस में कई एकड़ गेंहू की फसल जलकर राख होने की सूचना है. इसी तरह सिसवन प्रखंड क्षेत्र के सुगही माधोपुर में अचानक आग लग जाने से लगभग 10 बीघे में लगी गेहूं की फसल जलकर राख हो गई. घटना के संबंध में  जानकारी देते हुए सुगहि गांव निवासी सामाजिक कार्यकर्ता शैलेंद्र तिवारी ने बताया कि रविवार की दोपहर अचानक से गेहूं की फसल में आग लग गई आग लगने की खबर जैसे ही ग्रामीणों को मिली ग्रामीणों द्वारा घटनास्थल पर पहुंचकर आग बुझाने का प्रयास शुरू कर दिया गया. लेकिन ग्रामीण जब तक आग पर काबू पाते तब तक लगभ 10 बीघा गेहूं जलकर राख हो गया.