सारण में कोविड-19 टीकाकरण के लिए 5.51 लाख सिरिंज आवंटित

0
  • कार्यपालक निदेशक ने पत्र जारी कर सीएस को दिया निर्देश
  • बीएमएसआईसीएल के द्वारा आपूर्ति की जायेगी सिरिंज
  • आवंटित सिरिंज को सुरक्षित रख-रखाव को लेकर निर्देश
  • प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगा टीका

छपरा: कोविड-19 पैंडेमिक के नियंत्रण के लिए कोविड-19 का टीकाकरण किया जाना है। इसको लेकर विभाग ने तैयारियां तेज कर दी है। विभाग की ओर से जिलास्तर पर लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है।इसी कड़ी में जिले में टीकाकरण को लेकर 5. 51 लाख सिरिंज का आंवटन किया गया है। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र लिखकर सभी सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। जारी पर में बताया गया है कि सारण जिले को बीएमएसआईसीएल के द्वारा 5. 51 लाख 0.5 एमएल के एडी सिरिंज की आपूर्ति की जायेगी। सिरिंज के सुरक्षित रख-रखाव को लेकर निर्देश दिये गये है। कार्यपालक निदेशक ने सिरिंज की आपूर्ति के लिए बीएमएसआईसीएल के निदेशक को भी पत्र लिखा है। कोविड टीकाकरण के मद्देनजर जल्द हीं अप्रूव्ड ट्रांस्पोर्ट के माध्यम से सिरिंज की आपूर्ति की जायेगी। ऑटो डिजेबल (एडी) सिरिंज एक बार इस्तेमाल होने के बाद ऑटोलॉक हो जाती है। इसका दोबारा इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। कोविड-19 टीकाकरण को लेकर जिला व प्रखंडस्तर पर टास्क फोर्स का गठन कर दिया गया है। प्रत्येक सप्ताह तैयारियों की समीक्षा की जा रही है। कोविड-19 वैक्सीन के भंडारण के लिए सभी स्तर पर कोल्ड चेन गृहों एवं उपकरणों को सुदृढ किया जायेंगे तथा कोविड19 के वैक्सीन को नियमित टीकाकरण के वैक्सीन से अलग संधारित किया जाएगा। साथ ही टीकाकरण के लिए उपयोग किये जानेवाले सिरिंजों के लिए भी अलग से स्थल चयनित कर रखा जाएगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

रिएक्शन होने पर तुरंत निपटा जाएगा

यदि किसी को टीकाकरण से रिएक्शन होता है तो उससे तुरंत निपटा जाएगा। इसके लिए हर टीकाकरण स्थान पर एडवरस इवेंट फॉलोइंग इम्यूनाइजेशन टीम होगी। के साथ ही हर सीएचसी पर एक एंबुलेंस तैनात होगी, जो जरूरत पड़ने पर व्यक्ति को उपचार के लिए बड़े अस्पताल तक लाएगी।

पहले हेल्थ केयर वर्कर, डॉक्टरों का होगा टीकाकरण

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया टीकाकरण के लिए जो भी गाइडलाइन आ रही है, उस पर कार्य किया जा रहा है। पहले हेल्थ वर्कर एवं डॉक्टरों का टीकाकरण होगा। इसके बाद दूसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र वालों का टीकाकरण होगा। आने वाले समय में जरूरत के हिसाब से और व्यवस्थाएं मजबूत होंगी। जब तक वैक्सीन नहीं आती, सभी के लिए मास्क व सैनिटाइजर के साथ सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी है।

एक साइट पर 100 लोगों को टीका लगेगा

गाइडलाइन के अनुसार जहां वैक्‍सीन दी जाएगी, वहां तीन कमरे होंगे। पहला वेटिंग रूम होगा, दूसरा वैक्सीनेशन रूम और तीसरा ऑब्‍जर्वेशन रूम। तीनों जगह सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना होगा। वैक्‍सीन देने वाली टीम में एक वैक्‍सीन ऑफिसर और चार वैक्‍सीनेशन कर्मी होंगे। टीकाकरण रूम में किसी महिला को वैक्‍सीन मिलते वक्‍त एक महिला स्‍टाफ मेंबर की मौजूदगी अनिवार्य होगी। टीकाकरण की एक साइट पर दिनभर में केवल 100 लोगों को टीका लगेगा।