सिवान में मैट्रिक व इंटर की परीक्षा के लिए बनाए गए 80 केंद्र

0

परवेज़ अख्तर/सिवान:
कोरोना संक्रमण की दौड़ में पहली बार बोर्ड वार्षिक परीक्षा की तैयारी में है। इंटरमीडिएट की 1 से 13 फरवरी और मैट्रिक का 17 से 24 फरवरी तक चलने वाली परीक्षा में करीब एक लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे। जिला शिक्षा कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार इंटरमीडिएट के 49 हजार 641 परीक्षार्थियों के लिए 36 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। वहीं मैट्रिक के 71 हजार 290 परीक्षार्थियों के लिए 44 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। दोनों परीक्षाओं के लिए महाराजगंज अनुमंडल में बनाए गए सात-सात परीक्षा केंद्र शामिल हैं। इंटरमीडिएट की परीक्षा और मैट्रिक की परीक्षा दो पालियों में आयोजित होगी। जिला प्रशासन ने परीक्षा कदाचारमुक्त व शांतिपूर्ण तौर आयोजित करने के लिए तैयारी भी शुरू कर दी है। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि परीक्षा के लिए चयनित किए गए केंद्रों में सरकारी विद्यालय, निजी विद्यालय व कॉलेजों को शामिल किया गया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

71290 परीक्षार्थी शामिल होंगे मैट्रिक परीक्षा में

प्राप्त जानकारी के अनुसार मैट्रिक परीक्षा के लिए बनाए गए 44 केंद्रों पर 71 हजार 290 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। इसमें 35 हजार 902 छात्र व 35 हजार 388 छात्राएं शामिल हैं। मैट्रिक की परीक्षा दो शिफ्ट में आयोजित की जाएगी। पहले शिफ्ट की परीक्षा सुबह 09:30 बजे से शुरू कर दोपहर 12:15 बजे तक चलेगी। वहीं दूसरे शिफ्ट की परीक्षा दोपहर 01:45 बजे से शुरू हो कर शाम 04:30 बजे समाप्त की जाएगी। जबकि इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए बनाए गए 36 केंद्रों पर 49 हजार 641 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। इसमें 23 हजार 318 विज्ञान संकाय, 22 हजार 837 कला संकाय, 3 हजार 484 वाणिज्य संकाय तथा दो वोकेशनल कोर्स के परीक्षार्थी शामिल हैं।

परीक्षा को लेकर बनाए गए हैं चार आदर्श केंद्र

मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए जिले में 4-4 आदर्श केंद्र बनाए जाएंगे। बता दें कि जिला मुख्यालय में दो तथा अनुमंडल मुख्यालय में दो परीक्षा केंद्रों को आदर्श परीक्षा केंद्र बनाया गया है। मैट्रिक व इंटर की परीक्षा के लिए शहर के डीएवी हाईस्कूल सह राजकीय इंटर कॉलेज व राजवंशी देवी बालिका उच्च विद्यालय तथा महाराजगंज अनुमंडल मुख्यालय स्थित उमाशंकर सिंह हाईस्कूल व सिहौता बंगरा हाईस्कूल को आदर्श केंद्र घोषित किया गया है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

इंटर व मैट्रिक की परीक्षा को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है। जिन विद्यालयों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, उन स्कूलों के प्रधानाध्यापक व प्रखंड विकास पदाधिकारी के साथ बैठक आयोजित कर तैयारियों व आगे के प्लान पर चर्चा की जाएगी, ताकि परीक्षा का संचालन निर्बाध एवं कदाचारमुक्त माहौल में आयोजित कराया जा सके।

मोतिउर रहमान, जिला शिक्षा पदाधिकारी, सिवान