बिहार की एक मॉडल जिसपर फिदा था पटना का बिल्डर, अब कोर्ट में शूटर खोलेगा ‘आशिकी’ की कहानी

0

पटना: मॉडल मोना राय हत्याकांड में शामिल शूटर ने सरेंडर कर दिया है. आरा के रहने वाले विश्वकर्मा कुमार ने पटना के सिविल कोर्ट में गुरुवार को सरेंडर किया है. आरोपी बीते डेढ़ महीने से फरार चल रहा था. अब पुलिस उसे हिरासत में लेकर घटना में शामिल अन्य आरोपियों के संबंध में पूछताछ करेगी. इस दौरान घटना की मास्टरमाइंड बिल्डर राजू कुमार की पत्नी शारदा देवी के संबंध में कई राज खुलने की संभावना है. बता दें कि हत्या वाले दिन विश्वकर्मा साथी शूटर भीम यादव के साथ बाइक से राजीव नगर गया था. भीम चला रहा था, जबकि विश्वकर्मा ने मॉडल पर गोलियों की बौछार की थी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

थानाध्यक्ष ने कही ये बात

इस संबंध में राजीव नगर थाना के अध्यक्ष सरोज कुमार ने बताया कि फरार चल रहे शूटर ने कोर्ट में सरेंडर किया है. उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी. मामले में अब तक दो लोंगों की गिरफ्तारी हुई है. जबकि, मास्टरमाइंड शारदा समेत अन्य लोग फरार हैं. लेकिन अब जल्द ही उन्हें भी पकड़ लिया जाएगा. पूछताछ में कई राज खुलेंगे.

बता दें कि इसी साल 12 अक्टूबर की रात राजधानी पटना के राजीव नगर के वसंत विहार कालोनी निवासी मॉडल अनीता देवी उर्फ मोना राय की हत्या उसके घर के बाहर ही कर दी गई थी. मां दुर्गा के दर्शन कर लौटी महिला को अपराधियों ने गोली मार दी थी. इलाज के दौरान उसने 17 अक्टूबर को आईजीआईएमएस में दम तोड़ दिया था.

इस कारण कराई गई थी हत्या

हत्याकांड का खुलासा करते हुए सिटी एसपी सेंट्रल अम्बरीश राहुल ने बताया था कि लगभग नौ सालों से मॉडल मोना राय का बिल्डर राजू राय के साथ संबंध था. हालांकि, इस संबंध में खटास तब आई जब बिल्डर राजू राय की पत्नी शारदा देवी और बेटे विकास को ये रिश्ता खटकने लगा. दरअसल, बिल्डर राजू राय मॉडल मोना राय का परिवार सहित सभी खर्च उठता था, जो बिल्डर की पत्नी और उसके बेटे विकास को पसंद नहीं था. ऐसे में मोना को रास्ते से हटाने के लिए उन्होंने अपने ही परिचित लोगों द्वारा भोजपुर से शूटरों को हायर किया था और हत्या के लिए उन्हें पांच लाख की सुपारी दी थी.

पुलिस ने इस मामले में कुल सात लोगों को नामजद किया है, जिसमें भीम, विश्वकर्मा और शंकर को सुपारी दी गई थी. इस मामले में मुख्य आरोपी शूटर भीम और विश्वकर्मा की गिरफ्तारी की गई है. वहीं, बाकी अपराधकर्मी अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर हैं.