एसीजेएम वन ने आइओ से एसपी व डीआईजी के माध्यम से रिपोर्ट तलब किया

0
court

मामला तीन वर्ष पूर्व हुए निर्भय हत्याकांड का

परवेज अख्तर/सीवान:- एसीजेएम वन एसके श्रीवास्तव ने तीन वर्ष पूर्व हुए निर्भय कुमार सिंह हत्याकांड के अनुसंधानकर्ता से सदेह उपस्थित होकर प्रगति रिपोर्ट नहीं देने पर कोर्ट ने एसपी व डीआइजी के माध्यम से प्रगति रिपोर्ट तलब किया है. बताते चले कि जीरादेई थाना के नंदपाला निवासी राम बहादुर सिंह ने जीरादेई कांड संख्या 31/16 में दिये गये बयान में कहा है कि मेरा पुत्र निर्भय कुमार सिंह जीरादेई बलॉक के पास शांति इंटरप्राइजेज जो मनोज कुमार का है, में नौकरी करता था. दिन में काम करने के बाद रात में दुकान के दो मंजिला छत पर शो गया. उसके साथ मुकुंद पुर का ओम प्रकाश शर्मा का लड़का अवधेश शर्मा भी था. रात में ही मेरे लड़के के मोबाइल से किसी ने फोन किया कि आपके लड़के के पेट में दर्द है. जब मैं आया तो देखा कि मेरे लड़के का दाहिने तरफ पेट से मांस बाहर निकल गया है. उसकी गंभीर स्थिति को देख कर इलाज के लिये सदर अस्पताल लया, जहां चिकित्सकों ने पीएमसीएच रेफर कर दिया. पटना ले जाने के रास्ते में मलमलिया के पास उसकी मौत हो गयी. उसके जख्मी हालत को देखने पर मालूम हुआ कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा जान मारने की नियत से किसी धारदार हथियार से मेरे पुत्र पर हमला किया गया था. तीन वर्ष बीत गया लेकिन घटना के अनुसंधान द्वारा हत्यारे की खोज नहीं की गयी. किसी तथ्य को कोर्ट ने सूचक द्वारा दिये गये आवेदन पर गंभीरता से लेते हुए एसपी व डीआइजी के माध्यम से प्रगति प्रतिवेदन की मांग की है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal