जिले में कालाजार से बचाव को लेकर चल रहे छिड़काव कार्य का अपर स्वास्थ्य निदेशक ने लिया जायजा

0
  • सभी प्रखंडों में चल रहा है छिड़काव का कार्य
  • कालाजार उन्मूलन की ओर अग्रसर है सारण जिला
  • पहले के तुलना में कालाजार मरीजों की संख्या में आयी है कमी
  • कोविड 19 संक्रमण से बचाव हेतु कोविड अनुरूप आचरण अपनाने की लोगों से की अपील

छपरा: जिले में कालाजार से बचाव को लेकर सभी प्रखंडों छिड़काव का कार्य किया जा रहा है। इसी कड़ी सारण के क्षेत्रीय अपर निदेशक डॉ. रत्ना शरण ने छिड़काव कार्य का जायजा लिया तथा कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। इस दौरान उन्होने आमजनों से भी कालाजार उन्मूलन अभियान के बारे में फीडबैक भी लिया। साथ ही कोविड 19 संक्रमण से बचाव हेतु कोविड अनुरूप आचरण अपनाने को भी लोगों से अपील की। उन्होंने लोगों से कहा संक्रमण से बचाव के लिए व्यक्तिगत स्वच्छता मास्क का सही से इस्तेमाल और 6 फीट की शारीरिक दूरी का पालन जरूरी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

कालाजार से मुक्त करने के लिए स्वास्थ्य विभाग है कृत संकल्पित

इस दौरान क्षेत्रीय अपर निदेशक डॉ. रत्ना शरण ने कहा कि सारण जिले को कालाजार से मुक्त करने के लिए स्वास्थ्य विभाग कृत संकल्पित है। इसके लिए जिले के सभी प्रखंडों में कालाजार से बचाव के लिए छिड़काव का कार्य किया जा रहा है। पिछले साल की तुलना में इस बार कालाजार के मरीजों में काफी कमी आई है। जिले के 1119 गांव कालाजार से प्रभावित है। पिछले साल की तुलना में इस साल 42% कालाजार मरीजों की संख्या में कमी आई है। प्रतिदिन टीम से कम से कम 60 घरों में पूर्ण छिड़काव कराना सुनिश्चित किया जा रहा है। जिले में 148 टीम कार्य कर रही है।

माइक्रो प्लान के तहत किया जा रहा है छिड़काव

जिले में सिंथेटिक पैराथायराइड का छिड़काव तैयार माइक्रो एक्शन प्लान के अनुसार शत-प्रतिशत करवाना सुनिश्चित किया जा रहा है। छिड़काव का कार्य सुबह 9:30 बजे से शाम 4:30 बजे तक किया जा रहा है। छिड़काव कार्य में आशा के द्वारा कम से कम 2 दिन पूर्व संबंधित ग्रामों को छिड़काव की तिथि के बारे में जानकारी दी जा रही है। इसके साथ साथ कालाजार मरीजों की खोज भी की जा रही है।

कालाजार मरीजों की हो रही है पहचान

केयर इंडिया के डीपीओ कालाजार ने बताया कि जिले में छिड़काव कार्य के साथ मरीजों की भी खोज व पहचान की जा रही है। सितंबर माह तक जिले में कुल 286 कालाजार के मरीज पाये गये हैं। पीकेडीएल के 73 व भीएल-एचआईवी के 5 मरीज पाये गये हैं। सबसे अधिक गड़खा व परसा प्रखंड कालाजार से प्रभावित है। जहां पर विशेष रूप से ध्यान दिया जा रहा है।

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल

  • व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
  • बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
  • साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
  • छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
  • उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
  • घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
  • बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
  • आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
  • मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
  • किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
  • कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
  • बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here