गुठनी के इलाके में बालू खनन रोकने में प्रशासन विफल

0

परवेज अख्तर/सिवान: राज्य सरकार के तमाम आदेश के बावजूद प्रखंड के कई जगहों पर अवैध खनन जारी है। कई जगहों से मिट्टी व बालू का अवैध खनन नदी के गाद से किया जा रहा है। जिसमें ग्यासपुर, मैरिटार, खड़ौली, सोनहुला, योगियाडीह, गांव के नदी इलाकों से कारोबारी अवैध खनन कर रहे हैं। लोगों की माने तो नदी द्वारा लाई गई मिट्टी व बालू को कारोबारी रात के समय ट्रैक्टर पर भर कर ले जाते हैं। मिट्टी के खनन से जहां लोगों को काफी असुविधा होती है। वहीं बरसात के महीनों में नदी में बाढ़ आने से कटाव का खतरा और भी बढ़ जाता है। लोगों का कहना है कि कारोबारी बिना किसी सरकारी आदेश के नदी से मिट्टी व बालू का खनन करते हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

बाढ़ के दिनों में लोगों की जान जोखिम में पड़ जाती है। नदी से अवैध खनन का कारोबार ग्यासपुर व मैरिटार गांव के नदी इलाके में सबसे ज्यादा है। इस खनन से बाढ़ के समय तटबंधों को नुकसान पहुंचने की आशंका के साथ कई जगहों पर कटाव की आशंका बनी रहती है। जिसको लेकर ग्रामीण व किसान काफी चिंतित है। वही स्थानीय प्रशासन पूरे मामले में मूक दर्शक बना हुआ है। ग्रमीणों की कई बार शिकायत के बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। लोगों ने कहा कि अगर इस कारोबार को जल्द बंद नहीं किया गया तो इसकी शिकायत डीएम व एसपी से करेंगे। ग्रामीणों का कहना है कि खनन विभाग द्वारा आज तक कारोबारियों के खिलाफ कोई भी सख्त कदम नहीं उठाया गया। सीओ शम्भूनाथ राम का कहना है कि इसकी जानकारी नहीं मिली है। अगर खनन हो रहा है तो इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

क्या कहते हैं खनन पदाधिकारी

जिला खनन पदाधिकारी अजय कुमार का कहना है कि इस तरह का मामला आने पर हम खुद दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई करेंगे। इस तरह का काम पूरी तरह गैर कानूनी है। इसके लिए जल्द से एक टीम का गठन कर दिया जाएगा।