20 साल बाद जनता को मिला श्री कृष्ण सेतु, सीएम नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया लोकार्पण

0

पटना: मुंगेरवासियों को डबल डेकर पुल की सौगात मिल गई। सीएम नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जिले के लाल दरवाजा से मुंगेर खगड़िया रेल-सह-सड़क पुल का लोकार्पण किया। बड़े से मंच में बिहार सरकार के दोनों डिप्टी सीएम और मुंगेर सांसद ललन सिंह समेत मंत्री और विधायक मौजूद रहे। वहीं, दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी वर्चुअली इस कार्यक्रम से जुड़े। रिमोट द्वारा लोकार्पण के शिलापट्ट का पर्दा हटाया गया। इस लम्हे को साक्षात देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग लाल दरवाजा पहुंचे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

लाल दरवाजा टीका रामपुर के पास बने समारोह स्थल में 2000 से अधिक लोगों के बैठने की व्यवस्था की गयी थी। समारोह एवं पुल को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आए। इस पुल के निर्माण के बाद अब लोगों को काफी सहूलियत होने वाली है। दरअसल, पहले जहां मुंगेर से खगड़िया एवं खगड़िया से मुंगेर आने में पहले नाव से 1 घंटे का समय लगता था। अब सड़क पुल चालू हो जाने से महज 12 से 15 मिनट में ही लोग दो जिले में अप डाउन कर सकेंगे।

सड़क पर फर्राटे से मोटरसाइकिल, चारपहिया वाहन भी दौड़ने लगेंगे। आवागमन चालू हो जाने से व्यवसाय में भी चार चांद लग जाएगा। इस पुल के उद्घाटन से मुंगेर और खगड़िया के व्यापारी काफी खुश हैं। बता दें कि 20 साल पहले 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस पुल का शिलान्यास दिल्ली से रिमोट द्वार किया था।

श्री कृष्ण सेतु के निर्माण का निर्णय उस समय लिया गया था, जब बिहार के वर्तमान मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार, भारत सरकार में रेल मंत्री थे। यह पुल मुंगेर और बेगूसराय को जोड़ने वाला ब्रिज है। पुल निर्माण के दौरान टोपो लैंड के मुआवजा की राशि के भुगतान के कारण यह परियोजना धीमी हो गई थी। राज्‍य सरकार द्वारा अक्‍टूबर 2021 में विशेष पैकेज के द्वारा मुआवजे की कुल 57 करोड़ की राशि भुगतान की स्‍वीकृति प्राप्‍त होते ही इस पुल के निर्माण की जारी बाधाएं दूर हो गई। अब ये पुल पूरी तरह जनता को समर्पित किया जा चुका है।