मैरवा में युवक की हत्या करने के बाद शव को फेंका

0
  • हत्या के पीछे चुनावी रंजिश के साथ यूपी से शराब लेकर आने वाले शराब तस्करों की भूमिका होने की आशंका
  • विवाह के मौके पर घुड़सवारी कर रोजी रोटी चलाता था
  • शव की शिनाख्त नहीं होने पर सोशल मीडिया पर डाला
  • 02 खाली कारतूस घटनास्थल से मिले हैं

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के मैरवा थाना क्षेत्र के परसिया गांव में रविवार की देर रात अपराधियों ने एक युवक की गोली मार हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद नहर की सड़क पर शव को फेंक दिया। युवक के गरदन और सीने में गोली लगी है। मौके पर दो खाली कारतूस मिले हैं। मृतक चुपचुपवां गांव के स्व. रामायण गोड़ का 23 वर्षीय पुत्र दुखी गोड़ है। दुखी गोड़ रविवार की शाम से घर से लापता था। सुबह में उसका शव मिलने के बाद क्षेत्र में दहशत है। दुखी गोड़ ट्रैक्टर चलाने के साथ शादी विवाह के मौके पर घुड़सवारी कर रोजी रोटी चलाता था। पुलिस मौके पर पहुंच कर मामले की छानबीन कर रही है। सोमवार की अहले सुबह शौच के लिए निकली महिलाओं ने नहर के समीप युवक के शव को देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया। जिसके बाद काफी संख्या में लोग मौके पर पहुंच गये। युवक खून से लथपथ होकर मृत पड़ा हुआ था। शव की शिनाख्त नहीं होने पर सोशल मीडिया पर फोटो डाल दिया। घटनास्थल से दो किलोमीटर दूर चुपचुपवां गांव के लोगों ने वायरल फोटो को देखा। जिसके बाद दुखी के परिजनों को सूचित किया गया। युवक की फोटो देखकर परिवार के लोग राते हुए घटनास्थल पर पहुंच गये। परिजनों ने युवक के शाम से लापता होने की जानकारी दी। शव को देखकर परिवार के सदस्य रोने लगे। पुलिस के समझाने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। देर शाम तक इस मामले में कोई लिखित शिकायत नहीं की गयी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

मोबाइल पर कॉल के बाद घर से निकला था

दुखी रविवार की शाम पांच बजे के करीब मोबाइल पर एक कॉल आने के बाद घर से निकला था। उसने अपना फोन घर में हीं छोड़ दिया। मोबाइल नहीं होने से घर के लोग उससे संपर्क नहीं कर पा रहे थे। सुबह में वायरल फोटो से उसकी हत्या की जानकारी मिली। परिजनों ने किसी प्रकार के विवाद से इंकार किया है। आर्थिक रूप से कमजोर युवक के मिलनसार होने की बात ग्रामीण बता रहे हैं। हत्या के पीछे चुनावी रंजिश के साथ यूपी से शराब लेकर आने वाले शराब तस्करों की भूमिका होने की आशंका है। नहर के रास्ते से बड़े पैमाने पर शराब की तस्करी होती है। ऐसे में उसके किसी तस्कर को रोके जाने के दौरान हत्या की आशंका लोग जता रहे हैं। हत्या के पीछे पुलिस राजनीतिक साजिश के साथ प्रेम प्रसंग के पहलू पर जांच कर सकती है।

मोबाइल से खुल सकता है हत्या का राज

दुखी के मोबाइल फोन को पुलिस ने जब्त कर लिया है। कॉल आने के बाद उसका फोन घर में पड़ा था। अंतिम कॉल करने वाले युवक से पूछताछ हो सकती है। साथ हीं किसी संदिग्ध नंबर की पहचान भी हो सकती है। हत्या के बाद से नहर के रास्ते से देर शाम को घर जाने वाले लोग दहशत में हैं।