पति के आत्महत्या करने के बाद अचानक गायब हो गई है महिला दारोगा….पटना से लेकर बेगूसराय तक ढूंढ रही है पुलिस….

0

पटना: बिहार की एक महिला दारोगा पिछले चार दिनों से लापता है। दारोगा का फोन भी बंद बता रहा है। पुलिस अपनी इस दारोगा को खोजने के लिए परेशान है। दारोगा की खोज पटना से लेकर बेगूसराय तक हो रही है। पटना के राजीवनगर थाने की पुलिस के साथ ही बेगूसराय जिले के बरौनी थाने की पुलिस भी लगातार दारोगा से संपर्क करने की कोशिश में जुटी है, लेकिन इसका कोई फायदा होता नहीं दिख रहा है। दरअसल, मूलत: पटना सिटी की रहने वाले ये महिला दारोगा बेगूसराय के बरौनी थाने में पदस्‍थापित है। दारोगा का पति एक निजी कंपनी में काम करता था। वह पटना के राजीव नगर थाना क्षेत्र के एक अपार्टमेंट में रहता था, जहां उसने चार दिन पहले खुदकुशी कर ली। झारखंड के बोकारो जिला अंतर्गत चास के रहने वाले युवक ने पटना की युवती से प्रेम विवाह किया था, जब वह बेरोजगार थी।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

इस मामले में युवक के परिवार ने उसकी सब इंस्पेक्टर पत्नी पर प्रताड़‍ित करने और आत्‍महत्‍या के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है। घटना के तीन बाद भी पुलिस SI का बयान नहीं ले सकी है। बुधवार से ही उसका मोबाइल फोन बंद आ रहा है। अब पुलिस उसके घर व ठिकाने पर जाने की तैयारी कर रही है। इस मामले में युवक के स्वजनों ने SI पत्नी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया है। राजीव नगर थाना प्रभारी सरोज कुमार ने कहा कि जल्द पुलिस युवक की पत्नी से पूछताछ करने जाएगी।

ज्ञात हो कि मूल रूप से बोकारो के चास निवासी रोशन सागर पटना में एक जूते की कंपनी में काम करते थे। पत्नी से विवाद के कारण उन्होंने गत बुधवार को अपने फ्लैट में फांसी लगा जान दे दी थी। उन्होंने पटना सिटी की रहने वाली प्रीति से प्रेम विवाह किया था। शुरुआत में दोनों के बीच अच्छे संबंध थे। इसी बीच प्रीति की पुलिस में नौकरी लग गई, जिसके बाद उसके व्यवहार में बदलाव आ गया था। स्वजनों के मुताबिक, वह पति पर तलाक लेने का दबाव बना रही थी। घटना वाले दिन फांसी लगाने से पहले युवक ने वीडियो काल कर पत्नी को फांसी का तैयार फंदा भी दिखाया था। बावजूद उसने पति को बचाने की कोई कोशिश नहीं की थी।