खरीफ अभियान सह महोत्सव में किसानों को दी गई कृषि की जानकारी

0

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के सिसवन तथा रघुनाथपुर में शुक्रवार को खरीफ अभियान सह महोत्सव का आयोजन किया गया। इस मौके पर किसानों को कृषि से संबंधित कई जानकारियां दी गई। रघुनाथपुर प्रखंड कार्यालय परिसर में आयोजित खरीफ महोत्सव को संबोधित करते हुए जिला कृषि पदाधिकारी राजेंद्र वर्मा ने किसानों को खरीफ फसल की बोआई के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यदि किसान वैज्ञानिक दृष्टि कोण से किसान अपनी खेती करता है तो पैदवार के साथ अच्छा मुनाफा कर सकते हैं। उन्होंने कृषि से संबंधित मिलने वाले अनुदान की जानकारी दी। इस मौके पर जिला पार्षद राजबल्ली माझी, खाद्य सुरक्षा सलाहकार अजय यादव, विनोद कुमार शाही, सीओ बृज बिहारी कुमार, बीएओ प्रभुनाथ मांझी, पूर्व ज़िला पार्षद अनिल सिंह, उप प्रमुख श्यामू कुमार यादव, पूर्व मुखिया पशुपतिनाथ तिवारी, राजेंद्र प्रसाद, मुखिया अजीत सिंह, सुनील सिंह, महिपाल सिंह, पूर्व उप प्रमुख दिलीप कुमार भगत, रत्नेश्वर सिंह, संतोष गुप्ता, शर्मा बैठा सभी कृषि समन्वयक, किसान सलाहकार सहित काफी संख्या में किसान उपस्थित थे। मंच की संचालन किसान सलाहकार नवीन कुमार पांडेय ने किया। सिसवन प्रखंड मुख्यालय पर शुक्रवार को खरीफ अभियान सह महोत्सव का आयोजन किया गया। अभियान के तहत राष्ट्रीय/ मुख्यमंत्री बागवानी मिशन,पौधा संरक्षण, कृषि यांत्रिक योजना, आत्मा के तहत चलने वाली कृषि योजना,मछली पालन, मुर्गी पालन, बकरी पालन, जीरो टिलेज एवं श्री विधि से धान की बोआई करने सहित कृषि से संबंधित विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। अभियान मे विशेष रूप से पौधा संरक्षण पर विशेष जोर दिया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन प्रखंड कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार सिंह, प्रमुख धर्मेंद्र साह ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर जदयू प्रखंड अध्यक्ष सत्येंद्र भारती, उपप्रमुख सत्येंद्र सिंह, पंचायत समिति सदस्य प्रियंका सिंह, बबलू खान, ब्रजेश बहादुर सिंह, गुड्डू तिवारी, राजेंद्र प्रसाद, अंगेश कुमार महतो, शशिकांत उपाध्याय, मिथिलेश साह, रवि उपाध्याय सहित दर्जनों किसान उपस्थित थे। आंदर प्रखंड कार्यालय परिसर में गुरुवार को कृषि विभाग के कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण द्वारा खरीफ महोत्सव एवं किसान प्रशिक्षण शिविर आयोजन किया गया, जिसमें किसानों को अत्याधुनिक तकनीक से खेती करने की जानकारी दी गई। इस मौके पर काफी संख्या में किसान उपस्थित थे।