निष्क्रियता का आलम:  सीडीआर खंगालने के बाद भी हत्यारे को नहीं गिरफ्तार कर सकी महादेवा पुलिस

0
siwan sadar aspatal
  • हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए अंधेरे में लाठी पीट रही है पुलिस 
  • हत्या के बाद न्याय की राह देख रहे हैं मृतिका के परिजन
  • मामला : बड़हरिया स्टैंड व्यापार मंडल के समीप की

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान शहर के महादेव ओपी क्षेत्र के व्यापार मंडल के समीप हुई महिला की गला दबाकर  हत्या मामले में तीन महीने बीतने के बावजूद भी पुलिस हत्यारें को अभी भी गिरफ्तार नही कर सकी.हालांकि पुलिस दावा कर रही है कि जल्द से जल्द इस मामले में हत्यारें को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.बताते चलें कि बीते 16 मई की सुबह गौशाला रोड स्थित व्यापार मंडल के बगल में एक के बंद कमरे से पुलिस ने एक महिला का शव प्लास्टिक के बोरे से बरामद किया था.मृतिका की पहचान बड़हरिया थाना क्षेत्र के मथुरापुर निवासी रामनाथ महतो की पुत्री सीमा कुमारी के रूप में की गयी थी.वही इस मामले में मृतिका के बड़ी बहन ने अज्ञात ब्यक्ति पर प्राथमिकी दर्ज कराई थी लेकिन एक पखवाड़े बीतने के बाद भी पुलिस हत्यारे की तलाश नही कर सकी.इधर घटना के बाद तरह तरह की चर्चाएं हुई थी जिसमे यह भी बाटे परिजनों ने कहा था कि  मृतिका की शादी पांच वर्ष पहले सिसवन थाना क्षेत्र के कचनार गांव में अजय चौहान से हुई थी.शादी के कुछ दिनों बाद से ही पति पत्नी में विवाद होने लगी और मामला कोर्ट में जा पहुँचा.जिसके बाद मृतिका अकेले सीवान शहर में रहने लगी.लेकिन घटना के एक दिन पूर्व  जब उसका भाई ने बात करने की कोशिश किया तो फोन बंद आने लगा.दर्जनों बार बात करने की कोशिश की गई लेकिन फ़ोन नही लगा तो अगले दिन  यानी 16 मई को उसकी  बड़ी बहन ढूंढते हुए शहर आयी और देखा कि कमरा बन्द पड़ा हुआ है.जिसके बाद अंदर से बदबू भी आ रही थी तभी किसी ने इसकी सूचना स्थानीय थाना को दिया और पुलिस दरवाज़ा तोड़ शव को बरामद किया गया था.इधर तीन महीने से अधिक समय बीतने के बाद भी जब हत्यारे का कोई सुराग नही मिला तो परिजन न्याय की राह देख रहे है.वहीं इस मामले में केस के अनुसंधानकर्ता ने बताया कि जांच चल रही है जल्द से जल्द हत्यारें की गिरफ्तारी कर लिया जायेगा.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

पति को छोड़ने के बाद रहती थी सीवान

मृतिका के परिजनों ने की माने तो समाज में बदनामी के डर से सीमा शहर में रहती थी.उन्होने यह भी बताया कि यदि गांव पर सीमा रहती तो लोग यह बोलकर शर्मिंदा करते  कि उसका पति उसे छोड़ दिया है इसी की सर्मिन्दगी के डर से वह शहर में रहती थी.

मोबाइल सीडीआर से भी नहीं मिल सका हत्यारें का पता

इधर हत्या के बाद से अब तक पुलिस अब यह पता लगाने में जुटी हैं की आखिर महिला की हत्यारा कौन है. लेकिन मोबाइल से पीएफ निकालने के बाद भी अब तक पुलिस हत्यारे तक नहीं पहुंच सकी है .