सभी पीएचसी व सीएचसी पर तीसरे चरण के टीकाकरण की हुई शुरुआत, निर्भीक होकर वैक्सीन लेने पहुंचे बुज़ुर्ग लोग

0
  • मेडिकल प्रमाण पत्र के सत्यापन के लिए तैनात होंगे डॉक्टर
  • 45 से 59 साल तक व्यक्तियों को दिखाना होगा मेडिकल सर्टिफिकेट
  • सरकारी व निजी अस्पतालों में नि:शुल्क टीकाकरण

गोपालगंज: जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गयी है। 1 मार्च से तीसरे चरण की भी शुरुआत कर दी गयी। बुधवार से जिले के सभी प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी तीसरे चरण की शुरुआत हो गयी। टीकाकरण अभियान के इस चरण में ऐसे लोगों को टीका लगाया जा रहा है, जिनकी उम्र 60 साल से अधिक है। इसके अलावा 45 साल से अधिक उम्र के उन लोगों को टीका लगाया जाना है जो पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं। तीसरे चरण में सरकारी टीकाकरण केंद्रों के साथ-साथ निजी टीकाकरण केंद्रों में भी टीका लगवाया जा सकेगा। निजी केंद्रों पर भी टीका लगवाने के लिए लोगों को किसी शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा। अब सभी प्रखंडों में टीकाकरण शुरू होने से आमजनों को काफी सहूलियत होगी। इसके साथ हीं पूर्व से संचालित स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंटलाइन वर्करों का टीकाकरण का कार्य यथावत जारी रहेगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

45 से 59 साल तक व्यक्तियों देना है मेडिकल प्रमाण-पत्र

सिविल सर्जन डॉ. टीएन सिंह ने बताया कि 45 से 59 साल तक ऐसे व्यक्तियों का भी टीकाकरण किया जा रहा है, जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं । वैक्सीन के लिए उन्हें मेडिकल प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। 60 साल व उससे अधिक उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन के लिए आधार कार्ड या अन्य मान्य पहचान पत्र अनिवार्य है। रजिस्ट्रेशन के लिए मोबाइल नंबर की आवश्यकता है।

प्रमाण के सत्यापन के लिए तैनात होंगे चिकित्सक

प्रधान सचिव ने पत्र जारी कर निर्देश दिया है कि टीकाकरण केंद्रों पर 45 से 59 साल तक के व्यक्तियों के मेडिकल प्रमाण पत्र के सत्यापन के लिए डॉक्टर की तैनाती की जाये। तैनात चिकित्सक यह सत्यापित करेंगे कि व्यक्ति किस बीमारी से ग्रसित है। उसके बाद निर्धारित फार्मेट में उसका सभी डाटा भरा जायेगा। जिसके बाद उन्हें वैक्सीन दी जाएगी ।

सघन अनुश्रवण व औचक निरीक्षण

सिविल सर्जन समेत अन्य पदाधिकारियों के द्वारा सभी स्तर पर टीकाकरण अभियान का अनुश्रवण व निरीक्षण किया जायेगा। ताकि भारत सरकार द्वारा निर्धारित लाभार्थियों का ही टीकाकरण कराया जा सके। इसके साथ किसी भी परिस्थिति में टीकाकरण के लिए प्राथमिकता के आधार पर योग्य लाभार्थियों के अलावा अन्य किसी व्यक्ति का टीकाकरण नहीं किया जायेगा| इसका शत प्रतिशत अनुपालन करना सुनिश्चित किया जाएगा । सभी टीकाकरण केंद्रों पर एनाफलाक्सिस किट में उपलब्ध दवाओं की सूची एवं एईएफआई किट की उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है।

ऑनसाइट किया गया बुजुर्गों का रजिस्ट्रेशन

डीपीएम धीरज कुमार ने बताया कोविड टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति सेल्फ रजिस्ट्रेशन करने में असमर्थ है तो उसका रजिस्ट्रेशन ऑनसाइट यानि टीकाकरण केंद्र पर किया जा रहा है। रजिस्ट्रेशन के लिए सरकार द्वारा निर्गत पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड होने चाहिए| साथ ही मोबाइल फोन भी होना चाहिए| मोबाइल फोन पर आए ओटीपी को कोविन पोर्टल 2.0 पर फ़ीड करना होगा। रजिस्ट्रेशन के समय किस तारीख को और कहां टीका लेना है यह खुद तय कर सकते हैं।

तीन तरीकों से करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

  • कोविन पोर्टल
  • ऑनसाइट पंजीकरण के लिए चिह्नित निजी अस्पताल
  • आरोग्य सेतु एप के माध्यम से