कोरोना से बचाव के लिए घर-घर जाकर जागरूक कर रही है आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

0
  • आईसीडीएस के 6 सेवाओं को भी जन -जन तक पहुंचा रही है
  • डीपीओ ने भ्रमण कर चलाया जागरूकता अभियान
  • मास्क का प्रयोग करने की कर रही है अपील

सिवान: वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण का प्रसाद लगातार बढ़ते जा रहा है इससे बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन तमाम प्रयास कर रहे हैं । अब आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को इससे बचाव के लिए जागरूक कर रही हैं । शनिवार को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने जिले के कई प्रखंडों में घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया। साथ ही आंगनबाड़ी सेविकाओं के द्वारा प्रवासी मजदूरों को आईसीडीएस के सभी सेवाओं के बारे में जानकारी दी । इस दौरान आईसीडीएस के डीपीओ नीतू सिंह ने भी सेविकाओं के साथ घर घर जाकर लोगों को कोविड-19 से बचाव के प्रति जागरूक किया। डीपीओ नीतू सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस का संक्रमण न फैलने पाये, इसलिए सभी विभाग मिलकर काम कर रहे हैं।आंगनबाड़ी वर्कर अपने क्षेत्र के गांव में जाकर न सिर्फ लोगों को वायरस के प्रति जागरूक कर रही हैं, बल्कि हर घंटे हाथों को साफ करने का महत्व भी बता रही हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

WhatsApp Image 2020 06 13 at 2.15.31 PM

जागरूकता के साथ-साथ आईसीडीएस के सेवाओं की जानकारी

डीपीओ नीतू सिंह ने बताया कि जिले के सभी आंगनबाड़ी केन्द्र बंद हैं, बावजूद आंगनबाड़ी वर्कर गृह भ्रमण कर रही हैं। वह लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव की जानकारी देने के साथ विभाग के सभी सेवाओं को जन जन तक पहुंचाने का काम कर रही है। बाहर से आए प्रवासियों को आईसीडीएस के सभी सेवाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है।आंगनबाड़ी वर्कर इस दौरान बच्चों, गर्भवती व धात्री महिलाओं के घर जाकर पोषाहार का वितरण भी कर रही हैं।

साफ-सफाई के लिए कर रही प्रेरित

घर व आसपास में साफ-सफाई करने के लिए सबको प्रेरित किया जा रहा है। वर्कर लोगों से अपील कर रही हैं कि परिजनों, रिश्तेदारों और मित्रों को जीवनशैली से जुड़ी सावधानियों के बारे में बताएं। पड़ोसियों के साथ मिलकर आपातकालीन स्थिति की योजना बनाएं।

मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकले

गृह भ्रमण के दौरान डीपीओ नीतू सिंह ने पुरुषों और महिलाओं से अपील किया कि वे घर से निकलते वक्त मास्क लगाकर ही निकले। बिना मास्क लगाए बाहर जाने पर जुर्माने का प्रावधान किया गया है। मास्क लगाने से संक्रमण फैलने का खतरा कम रहता है। ऐसे में सभी को मास्क लगाना अनिवार्य है।

खांसते व छींकते समय अपने मुंह पर रुमाल जरूर रखें

डीपीओ नीतू सिंह ने कहा कि भ्रमण के दौरान कार्यकर्ताओं को सुरक्षा के मानकों को अपनाने, मास्क लगाने व सेनेटाइजर का उपयोग करने के निर्देश दिये गये हैं। अगर किसी को लगातार खांसी, बुखार या फिर सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो उस मरीज को तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जांच करानी चाहिए और इस बीमारी में घरेलू नुस्खे नही अपनाना चाहिए। वायरस से बचने के लिए दिनभर जिन लोगों से संपर्क करते हैं उनसे हाथ न मिलाएं और खांसते व छींकते समय अपने मुंह पर रुमाल जरूर रखें। भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करें और मुंह पर मास्क पहनकर रखें। खांसी व जुकाम वाले हर व्यक्ति को कोरोना वायरस हो ये भी जरूरी नहीं है। जब तक की वह व्यक्ति किसी कोरोना पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में नहीं आया हो।

यह है आईसीडीएस के सेवाएं

  • पूरक पोषण
  • प्रतिरक्षा
  • स्वास्थ्य जांच
  • रेफ़रल सेवाएं
  • पूर्व-स्कूल गैर-औपचारिक शिक्षा
  • पोषण और स्वास्थ्य शिक्षा