आंगनबाड़ी सेविकाओं ने शुरू किया डोर-टू-डोर टीएचआर का वितरण

0
aaganbadi
  • गर्भवती महिला और बच्चों के बीच टीचर का हुआ किया वितरण
  • आईसीडीएस के निदेशक के निर्देश पर शुरू हुआ टीएचआर वितरण

गोपालगंज:- वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के बीच जिले के सभी प्रखंडों में आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा गर्भवती महिलाओं और बच्चों के बीच टीएचआर(टेक होम राशन) का वितरण घर- घर जाकर किया गया। आईसीडीएस के निदेशक ने सभी जिलों के डीपीओ को पत्र लिखकर टीएचआर वितरण करने का निर्देश दिया है, जिसके आलोक में गोपालगंज जिले में टीएचआर का वितरण शुरू कर दिया गया है। गर्भवती महिलाओं व बच्चों के बीच टेक होम राशन का वितरण किया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

एईएस प्रभावित जिले में विशेष जोर

आईसीडीएस के डीपीओ शम्स जावेद अंसारी ने बताया लाभार्थियों को पूर्व की तरह सामग्रियों का वितरण किया जा रहा है। लेकिन एईएस प्रभावित जिला होने के कारण टीएचआर लाभार्थियों की सामग्री में 250 ग्राम सोयाबड़ी तथा 500 ग्राम गुड़ का वितरण भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 3 से 6 वर्ष के स्कूल पूर्व शिक्षा के लाभार्थियों को गर्म पका भोजन की राशि के बदले अब प्रति लाभार्थी 2 किलो चावल 1 किलो दाल 200 ग्राम गुड़ तथा 200 ग्राम सुधा दूध का चूर्ण दिया जा रहा है।

aaganbadi sevika

प्रत्येक माह मिलता है टीएचआर

बरौली के महिला सुपरवाइजर अमरीन अंसारी ने बताया जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों पर प्रत्येक माह हजारों गर्भवती व धातृ महिलाओं, कुपोषित व अतिकुपोषित बच्चों के बीच टीएचआर (टेक होम राशन) का वितरण होता है। कोविड-19 के संक्रमण को लेकर सभी आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद करने का आदेश दिया गया है। इस दौरान घर-घर जाकर टीएचआर वितरण किया जा रहा है।

कोरोना वायरस के प्रति किया जा रहा जागरूक

केयर इंडिया के फैमिली प्लैनिंग कोऑर्डिनेटर अमित कुमार ने बताया कि डोर टू डोर टीएचआर वितरण के दौरान आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा लाभार्थियों व उनके परिजनों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के बारे में जानकारी दी जा रही है। सेविकाओं द्वारा लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, मास्क का उपयोग, हाथों के नियमित धुलाई, अपने आस-पास साफ सफाई रखने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। साथ ही आंगनबाड़ी सेविका भी कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए ही टीएचआर का वितरण कर रही हैं.