लाइनमैन की हुई मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने की सड़क जाम

0
  • बिजली विभाग के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग पर अडे ग्रामीण
  • आक्रोशित ग्रामीणों ने दुकानें भी कराई बंद

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जिले के चैनपुर ओपी थाना अंतर्गत चैनपुर अंबेडकर चौक स्थित सिसवन सीवान स्टेट हाईवे पर शनिवार की सुबह सैकडो आक्रोशित ग्रामीणों ने लाइनमैन की शव को सड़क पर रखकर जाम कर दिया. वह बिजली विभाग के बड़े अधिकारियों एवं जिला अधिकारी को बुलाने की मांग पर अड़ गये, इधर सड़क जाम होने की सूचना पाकर अंचल अधिकारी इंद्र वंश राय ओपी प्रभारी राकेश कुमार दल बल के साथ चौक पर पहुंचे वह आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने बुझाने में जुट गए हालांकि शव को रखकर ग्रामीण प्रदर्शन कर मुआवजे की मांग कर रहे थे, इसके अलावा एक नौकरी देने की विभाग से मांग कर रहे थे. इधर सीओ एवं थानाध्यक्ष ने आक्रोशित ग्रामीणों की मांग को लेकर, सिवान एसडीओ एवं जिलाधिकारी को इसकी सूचना दी. हालांकि बिजली विभाग के एक्सक्यूटिव इंजीनियर ने फोन पर ही ग्रामीणों को सारी शर्तें पूरा करने की आश्वासन देने में लगे हुए थे. बावजूद एक्सक्यूटिव इंजीनियर एवं जिलाधिकारी को बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

घटना के संदर्भ में बता दे कि शुक्रवार के देर शाम चैनपुर मुबारकपुर स्थित बिजली पावर ग्रिड के समीप बिजली के खंभे पर चढ़कर लाइनमैन ग्यारह हजार विद्युत टूटे तार को जोड़ रहा था, इसी दरमियान बिजली विभाग के लापरवाही के चलते अचानक तार में बिजली आ गई तब खंभे पर ही लाइनमैन को शार्ट लग गई वह पोल से गिर उसकी मौत हो गई. तब चैनपुर की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सीवान भेज दिया, इधर शनिवार की सुबह जैसे ही पोस्टमार्टम के बाद शव चैनपुर पहुंचा की आक्रोशित ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग पर शव को रख कर बिजली विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे.इधर मृत चैनपुर निवासी रघुनाथ प्रसाद के 22 वर्षीय पुत्र संटू कुमार बताया जाता है.

इधर संटू के मौत के बाद उसका विकलांग पिता रघुनाथ प्रसाद बेटे के मौत की खबर सुन वे शुद्ध हो गए थे बीमार मां मंजू देवी बेटे को देख बेहोश हो गई थी, वह एक छोटी बहन शिल्पा का रो रो कर बुरा हाल था, बावजूद आसपास के ग्रामीण समझाने बुझाने में लगे हुए थे इधर संटू ही परिवार का एकलौता कमाऊ था, संटू दो भाई है बड़ा भाई मिंटू जो मजदूरी के लिए बाहर गया हुआ है. इधर- मौके पर पहुंचे बिजली विभाग के इस एसक्यूटिव इंजीनियर विक्की कुमार एवं एसडीओ प्रशांत कुमार ने लाइन मैन के परिजनों को दी आश्वासन लाइनमैन के पद पर एक नौकरी और विभागीय सहायता के रूप में पच्चास हजार नगद भी दिए उन्होंने कहा कि जो आपदा से मिलने वाली चार लाख की मुआवजा भी दिलाई जाएगी,तब जाकर परिजन शांत हुए.