बीजेपी और जेडीयू के ऑफिस पुरखों की जमीन पर बने हैं क्या? आरजेडी ने किया सवाल

0

पटना: प्रदेश राजद के प्रवक्ता चितरंजन गगन ने सवाल किया है कि भाजपा और राजद कार्यालय पुरखों की जमीन पर बने हैं क्या? क्या उन्होंने गेहूं और धान बेचकर अपने कार्यालय का निर्माण कराया है?

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

राजद प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह ने प्रामाणिक तथ्यों के साथ मुख्यमंत्री नितीश कुमार और भवन निर्माण मंत्री को पत्र लिखकर राजद कार्यालय के विस्तारीकरण लिए जमीन की मांग की है। इस पर भाजपा और जदयू नेताओं ने की टिप्पणी आपत्तिनजक और निंदनीय है।

उन्होंने कहा कि जमीन की मांग राज्य सरकार से की गई है, भाजपा और जदयू से नहीं। आखिर वे किस हैसियत से टिप्पणी कर रहे हैं। यह प्रशासनिक मामला है, राजनीतिक नहीं। प्रवक्ता ने भाजपा और जदयू नेताओं को सुझाव दिया कि राजनीतिक मर्यादा और स्तर को बनाए रखिए, वरना लोग आपको मनोरंजन का साधन समझने लगेंगे।

विधायकों की संख्या के हिसाब से पार्टी ऑफिस फैलता-सिकुड़ता नहीं : भाजपा

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने रविवार को राजद पर निशाना साधा। कहा कि किसी पार्टी का कार्यालय विधायकों और सांसदों के हिसाब से फैलता और सिकुड़ता नहीं है। अगर कोई ऐसा कहता है, तो यह हास्यास्पद है। कहा कि राजद के प्रदेश अध्यक्ष को पार्टी के विधायकों की संख्या से ज्यादा खुश नहीं होना चाहिए, उन्हें अपनी पार्टी के लोकसभा सदस्यों की भी गिनती कर लेनी चाहिए। यह भी देखना चाहिए कि 2005 और 2010 में उनकी पार्टी के कितने विधायक थे, तब क्या राजद के प्रदेश कार्यालय को छोटा कर दिया गया था।