​रोजेदारों के लिए मस्जिदों में इफ्तार की व्यवस्था

0

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के मैरवा में रोजेदारों के लिए मस्जिदों में इफ्तार की व्यवस्था की गई है। यह व्यवस्था करीब हर मस्जिद में की गई है ताकि कोई मुसाफिर रोजेदार उधर सा गुजर रहा हो और इफ्तार का समय हो गया हो तो वह मस्जिद में जाकर इफ्तार में शामिल हो सकें। यह व्यवस्था स्थानीय लोगों के द्वारा है। मोहल्ले के लोग मस्जिद में इफ्तार की सामग्री भेजते हैं। कई लोग ऐसा करते हैं जिससे मस्जिद में रोजेदारों को इफ्तार कराने की व्यवस्था आसानी से हो जाती है। इसकी देखरेख मस्जिद के इमाम करते हैं। इसके अलावा आसपास के लोग भी मस्जिद मे इफ्तार में शामिल होने पहुंचते हैं। समूह में इफ्तार करने का सवाब कुछ ज्यादा ही है। इससे भाईचारा बढ़ता है। इफ्तार के बाद मस्जिद में सामूहिक नमाज अदा की जाती है । इंग्लिश मस्जिद के इमाम हाफिज मोहम्मद नाजिम शहीद कहते हैं कि इफ्तार के समय रोजेदारों की दुआ कबूल होती है। इसलिए रोजेदारों को इफ्तार के समय अल्लाह से दुआ मांगनी चाहिए।

Loading...