आर पी एफ बलिया द्वारा रेलवे ई-टिकट के अवैध दलालों की गिरफ्तारी

0

वाराणसी: दिनांक 23-07-2021 को प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार सिंह/आरपीएफ/बलिया एवं निरीक्षक सीआईबी/वाराणसी अभय कुमार राय साथ स्टाफ़ द्वारा अवैध ई टिकट दलाली के संबंध में मुखबिरी सूचना के आधार पर दो स्थानों पर छापेमारी कर कुल तीन रेलवे टिकट दलालों को फर्जी व गलत नाम पत्ते से आईआरसीटीसी की पर्सनल यूजर आईडी बनाकर प्रतिबंधित सॉफ्टवेयर के उपयोग से ई टिकट बनाकर अवैध कारोबार करने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

(1) सूर्यपुरा बलिया स्थित साइबर कैफे व सहज जन सेवा केंद्र पर छापा मारकर उक्त दुकान के संचालक रमेश कुमार चौहान पुत्र रामाशंकर चौहान निवासी देवापुर मनियर,थाना-मनियर, जिला बलिया उम्र 32 वर्ष को आईआरसीटीसी की पर्सनल आईडी पर बनाये गए 7 अदद यात्रा रेलवे ई टिकट कीमती 8107/- रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया l दुकान से अभियुक्तगण द्वारा ई टिकट बनाने में प्रयुक्त 01 लेपटॉप तथा 01 अदद प्रिंटर और दो मोबाइल व नगद 20320/रुपया को जब्त किया गया।

(2). लट्ठुडीह/जनपद- गाजीपुर स्थित बिरजू सॉफ्टवेयर सोलुशन नामक दुकान के संचालक बिरजू चौहान पुत्र सुरेंद्र चौहान, निवासी- चन्द्रवार दुगौली, थाना- नगरा, जिला- बलिया उम्र- 31 वर्ष व उसके सहयोगी अमित चौहान पुत्र दुर्योधन चौहान, निवासी-सूर्यपुरा रामपुर थाना-मनियर, जिला बलिया उम्र-32 वर्ष को फेक नाम पत्ते से आईआरसीटीसी की कुल 16फर्जी पर्सनल आईडी DELTA सॉफ्टवेयर के माध्यम से तैयार कर तथा उसपर बनाये गए रेलवे ई टिकट कुल 7 अदद सामान्य/तत्काल कीमती 14258/- रुपये को अवैध रूप से बेचने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया। जिनके पास से रेलवे ई टिकट बनाने में प्रयुक्त एक लैपटॉप व 02 अदद मोबाइल आदि को जब्त किया गया।

पूछताछ में पकड़े गए उपरोक्त अभियुक्तगण द्वारा बताया गया कि उसके द्वारा फर्जी नाम पत्ते से आईआरसीटीसी की पर्सनल यूजर आईडी बनाकर उस पर जरूरमंद व्यक्तियों/एजेंटों से रेलवे टिकटों का आर्डर प्राप्त कर तथा ई टिकट बनाकर ग्राहकों को ₹500 से 1000 रुपये प्रति टिकट लाभ लेकर बेचा जाता है। उपरोक्त अभियुक्तगण द्वारा करीब 2-3 वर्षों से इस अनाधिकृत व गैरकानूनी कार्य में संलिप्त होना स्वीकार किया गया। उनके द्वारा ग्राहकों से प्राप्त आर्डर पर रेलवे के तत्काल व सामान्य ई टिकट को प्रतिबंधित सॉफ्टवेयर रेड मिर्ची व रेडबुल का पहले तथा वर्तमान में डेल्टा(DELTA) का इस्तेमाल करके बनाया जाना स्वीकार किया। पकड़े गए अभियुक्तों के लैपटॉप में DELTA सॉफ्टवेयर इंस्टॉल पाया गया, जिसे उसके द्वारा UPI से पेमेंट कर ऑनलाइन खरीदना बताया गया । अभियुक्तगण आईआरसीटीसी के अधिकृत एजेंट भी है। उपरोक्त अभियुक्तगण के विरुद्ध रेसुब पोस्ट बलिया पर मामला पंजीकृत किया गया।