दुस्साहस: अररिया में चोर-चोर का हल्ला कर पुलिस टीम पर हमला, डीएसपी समेत 7 घायल

0

छपरा: बिहार के अररिया जिल के नरपतगंज प्रखंड क्षेत्र की खैरा पंचायत के गढ़िया गांव में शुक्रवार की शाम डीएसपी के नेतृत्व में बदमाश को पकड़ने गई पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने अचानक चोर -चोर का हल्ला मचाते हुए एकजुट होकर ईंट-पत्थर व लाठी-डंडों से जानलेवा हमला कर दिया। इस घटना में फारबिसगंज डीएसपी गौतम कुमार, थानाध्यक्ष एमए हैदरी, डीएसपी के गार्ड मुन्ना कुमार, थाना के पुअनि सुबोध मंडल, होमगार्ड जवान देवानंद सिंह, फकीरचंद सिंह महिला सिपाही प्रीति कुमारी आदि जख्मी हो गए। इस दौरान एक राउंड फायरिंग करने की बात भी डीएसपी ने कही है।अंतरजिला कुख्यात ठग गिरोह का सरगना अब्दुल कादिर को सूचना के आधार पर जैसे ही पुलिस टीम गिरफ्तार करने उसके घर के समीप पहुंची कि अचानक दर्जनों की संख्या में आसपास के लोगों एवं परिजनों ने चोर चोर का हल्ला मचाते हुए पुलिस के साथ भिड़ गए। जमकर पत्थरबाजी करने लगे। हालांकि पुलिस ने जांबाजी दिखाते हुए अब्दुल कादिर को धर दबोचा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

इस बीच दहशत फैलाने के लिए ग्रामीणों ने पुलिस के ऊपर फायरिंग भी कर डाली। सभी जख्मी पुलिसकर्मियों का इलाज नरपतगंज पीएचसी में किया गया। जिसमें डीएसपी के बॉडीगार्ड के सर पर गंभीर रूप से चोट पहुंची है। वहीं कई पुलिसकर्मियों को भी गंभीर चोटें आई है। मामले की पुष्टि करते हुए फारबिसगंज डीएसपी गौतम कुमार ने बताया कि बदमाश को पकड़ने गई पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने लाठी-डंडे व इंट पत्थर से हमला कर करीब 07 पुलिसकर्मियों को जख्मी कर दिया। पुलिस के ऊपर गोली चलाने की बात की भी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि आरोपी बदमाश को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना में शामिल सभी दोषियों पर प्राथमिकी दर्ज कर विधि संगत कार्रवाई की जाएगी। गिरफ्तार बदमाश से पूछताछ की जा रही है। कई मामलों के खुलासे की संभावना है।

21 लाख की ठगी से जुड़ा है मामला

नरपतगंज के खैरा गढ़िया निवासी अब्दुल कादिर अंतरजिला कुख्यात गिरोह का सरगना बताया जाता है। राजस्थान के एक व्यवसाई से करीब 21 लाख की ठगी करने मामले में नरपतगंज थाना में प्राथमिकी दर्ज है। डीएसपी ने बताया कि इसके गिरोह लोगों को नकली सोना देकर पैसे की ठगी का धंधा बरसों से करते आ रहा है। कई जिलों में इनका तार फैला हुआ है। बहुत दिनों से पुलिस को इनकी तलाश थी। पुलिस को जब गुप्त सूचना मिली तो उसकी गिरफ्तारी करने के लिए पूरी टीम के साथ इसके घर पर पहुंची तो चोर चोर हल्ला कर पूरे पुलिस टीम पर जानलेवा हमला की घटना को अंजाम दिया गया।

डेढ़ माह में दूसरी बार पुलिस पर हमला

इससे पूर्व 2 दिसंबर 2020 को डीएसपी के नेतृत्व में जब मधुरा उत्तर पंचायत के पैक्स गोदाम परिसर में हथियार डील की सूचना पर डीएसपी के नेतृत्व में टीम जब बदमाशों को पकड़ने गई तो बदमाशों ने गोली चला दी थी। हालांकि पुलिस ने इस मामले में भी तीन बदमाशों को एक पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया था। वही खैरा गढ़िया में शुक्रवार शाम पुलिस पर हुए हमले में सात लोग जख्मी हो गए।