दूसरे दिन भी जारी ऑटो चालकों की हड़ताल, आम लोग परेशान

0

परवेज अख्तर, ​सिवान :- दो दिनों से शहर के ऑटो चालक संघ की हड़ताल जारी है। हड़ताल की वजह से शहर के लोग त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रहे हैं, लेकिन प्रशासन की ओर से इस मामले को लेकर कोई पहल नहीं की गई है। ऑटो चालकों ने हड़ताल स्टैंड के ठेकेदार द्वारा अवैध वसूली को लेकर किया है, लेकिन प्रशासन अभी तक इस मामले में ऑटो चालकों के सुध तक लेने नही पहुंचा है। हड़ताल से सबसे ज्यादा त्रस्त सफर करने वाली जनता है, जो ऑटो के लिए घंटों इंतजार कर रही है लेकिन ऑटो का अता पता नहीं है। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड या अन्य स्थानों पर रात हो या दिन ऑटो का इंतजार कर सभी यात्री सड़कों पर कर रहा है। रात को ट्रेन से उतर रहे यात्री ऑटो के चक्कर मे पूरी रात स्टेशन पर ही गुजार रहे हैं। शहर में लगभग एक हजार ऑटो चालकों के हड़ताल पर रहने से सबसे ज्यादा परेशानी बाहर से आए हुए यात्रियों को हो रही है। ऑटो चालकों की हड़ताल का फायदा रिक्शा एवं निजी वाहन वाले उठा रहे हैं। हड़ताल के दूसरे दिन तापमान में तपती धूप में लोगों को पैदल जाने को मजबूर होना पड़ा। बता दें कि शहर के स्टेशन मोड़, हसनपुरा मोड़, बबुनिया मोड़, तरवारा मोड़, जेपी चौक,ललित बस स्टैंड, बड़हरिया मोड़ अन्य जगहों पर ऑटो नहीं जाने से लोगों के बीच त्राहिमाम मचा हुआ है।

पैदल ही निकल पड़े सड़कों पर

जंक्शन पर विभिन्न जगहों से पहुंचे यात्रियों को गुरुवार को पैदल ही यात्रा करते नजर आए। जंक्शन पर दूर दराज से आने के बाद जब घंटों ऑटो के इंतजार करने के बाद भी गाड़ी नहीं मिली तो यात्री मजबूर होकर रिक्शा चालकों के पास गए तो चालकों ने तीन गुना से ज्यादा भाड़ा की मांग शुरू कर दी। इसके बाद मजबूर होकर जो सक्षम थे वे उनकी सवारी के साथ गए और जो असक्ष्म थे वे पैदल ही यात्रा करने को मजबूर हो गए।

आॅटो नहीं चलने से रिक्शा चालकों की हो रही कमाई

शहर में आॅटो चालकों के हड़ताल एक तरफ जहां आम राहगीरों को परेशानी हो रही है वहीं रिक्शा चालकों को इससे काफी फायदा भी हो रहा है। रिक्शा चालकों की कमाई भी खूब हो रही है। देर रात तक शहर की सड़कों पर रिक्शा चालकों को लोगों को लेकर आते जाते देखे जा रहे हैं।