पूर्व दिवंगत सांसद शहाबुद्दीन के करीबी फिरोज साई हत्याकांड का आरोपी बबलू साई जो पत्नी के तबीयत खराब होने का आवेदन देकर जेल से निकला था पैरोल पर

0

बबलू साई का भाई दिलशाद साई  भी प्रॉपर्टी डीलर राजेश सिन्हा पर हमले का है आरोपी

✍️ परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
नई दिल्ली के द्वारिका सेक्टर 23 थाना क्षेत्र में 24 फरवरी 2018 को सीवान के फिरोज साई हत्याकांड का आरोपी नौशाद साई उर्फ बबलू साई को पुलिस ने उसके भाई दिलशाद साई उर्फ छोटे राजा के साथ मंगलवार को पचरुखी थाना क्षेत्र के मंद्रापाली गांव स्थित उसके घर से छापेमारी कर गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने छापेमारी के दौरान दोनों के पास से एक पिस्तौल, दो मैगजीन तथा 11 जिंदा कारतूस बरामद किया है.पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि मेसर्स शुभम कंस्ट्रक्शन के मालिक अजय कुमार यादव से 2 जुलाई को 20 लाख रंगदारी मांगे जाने के मामले व 28 जून को नगर थाना क्षेत्र के सिसवन रोड में टावर के पास स्थित व्यवसायी राजेश कुमार सिन्हा उर्फ सीकू जी पर हमले के बाद बबलू साई एवं दिलशाद साई की गिरफ्तारी के लिए नगर इंस्पेक्टर जयप्रकाश पंडित के नेतृत्व में पचरूखी, एमएस नगर एवं सराय ओपी थानाध्यक्षों की एक टीम बनाई गई थी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

WhatsApp Image 2022 08 18 at 8.03.33 PM

उन्होंने बताया कि सूचना लेने का गठित विशेष टीम ने मंगलवार की रात्रि में पचरुखी थाना क्षेत्र के मद्रापाली गांव से नौसेर साई के दो पुत्र नौशाद उर्फ बबलू साई एवं दिलशाद साई छोटे राजा को हथियार सहित गिरफ्तार किया गया. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार दोनों भाइयों ने दोनों कांडों में अपने अपराध को स्वीकार किया है.बरामद हथियार 28 जून को व्यवसाय राजेश कुमार सिन्हा और हमले में उपयोग किया गया है. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्तार बबलू साई नई दिल्ली के द्वारिका सेक्टर 23 में 14 फरवरी 2018 में सीवान के पूर्व दिवंगत सांसद डॉक्टर मोहम्मद शहाबुद्दीन के करीबी फिरोज साई की हत्या में भी आरोपी है.

बबलू साई लगभग 6 माह अपनी पत्नी की तबीयत का हवाला देते हुए 10 दिनों के लिए कोर्ट के आदेश पर जेल से पैरोल पर छूटा था. तब से उस मामले में फरार चल रहा था. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस संदर्भ में अलग से पचरुखी थाना कांड संख्या -186/22 दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया है. उक्त दोनों अपराधकर्मी हत्या/ रंगदारी/शस्त्र अधिनियम जैसे कई कांडों में संलिप्त रहे हैं. दोनों घटनाओं में संलिप्त शेष फ़रार अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु सघन छापामारी की जा रही है. छापेमारी में नगर इंस्पेक्टर जयप्रकाश पंडित, पचरुखी थानाध्यक्ष ददन सिंह, सराय ओ पी थानाध्यक्ष उपेंद्र कुमार सिंह एवं एमएच नगर थाना अध्यक्ष पंकज ठाकुर शामिल थे.