बड़हरिया: चौकीदार की संदेहास्पद स्थिति में मौत, मचा कोहराम

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के जगतपुरा मठियां गांव के रंगवा टोला के स्व रेखा रंगवा के पुत्र व स्थानीय चौकीदार नागेंद्र प्रसाद (36) का शव जगतपुरा काली मंदिर के समीप मिलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गयी. विदित हो कि चौकीदार नागेंद्र प्रसाद का शव जगतपुरा मठिया काली मंदिर के पास नीम के नीचे फांसी से लटका हुआ पाया गया. रविवार की भोर में शौच के लिए निकली महिला ने काली मंदिर के पास नागेंद्र का शव देखते ही इसकी जानकारी चौकीदार के परिजनों व ग्रामीणों को दी. उसके बाद ग्रामीणों ने चौकीदार की मौत सूचना पुलिस को दी. सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर, एसआइ राजेश कुमार, एएसआइ मो. सैयद हसन, एएसआइ राजकुमार कश्यप आदि पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की तहकीकात शुरु कर दी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

पुलिस आत्महत्या व हत्या सहित तमाम बिंदुओं पर छानबीन कर रही है. पुलिस ने चौकीदार नागेंद्र प्रसाद के शव को अपने कब्जे में ले लिया. पंचनामा बनवाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. एएसआइ राजकुमार कश्यप चौकीदारों के साथ खुद शव को लेकर पोस्टमार्टम कराने सीवान पहुंचे. पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया. वहीं घटना के संबंध में ग्रामीणों का कहना है कि नागेंद्र की गर्दन में साड़ी माला की तरह लिपटी पायी गयी है. कुछ ग्रामीणों का कहना है कि नागेंद्र ने गले में साड़ी का फंदा डालकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली है तो कुछ ग्रामीणों का कहना है कि उसकी हत्या कहीं अन्यत्र कर उसे फांसी का रुप देने की कोशिश की गयी है.

बताया जाता है कि जगतपुरा मठिया के रामजीत महतो के घर तिलकोत्सव था, जिसमें नागेंद्र रंगवा देर रात तक देखा गया था. कुछ लोगों का कहना है कि वह सबसे अंत में करीब दो बजे रात में खाना खाया था. ग्रामीणों की माने तो जब वह गुस्से में होता था तो वह घर छोड़कर दूर एकांत में चला जाता था व परिजन रात भर खोजते रहते थे. बहरहाल, पुलिस तमाम बिंदुओं पर छानबीन कर रही है. हालांकि अभी घटना के बारे में पुलिस कुछ भी कहने से कतरा रही है. मामले की छानबीन कर रही पुलिस का कहना है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.