बड़हरिया: खाद्य सुरक्षा समूह की महिलाओं को सिखायी गयी मशरूम तैयार करने की विधि

0

परवेज़ अख्तर/सिवान
जिले के बड़हरिया प्रखंड की भोपतपुर पंचायत के विशुनपुरा गांव में आत्मा के सौजन्य से गठित अंंबे महिला खाद्य सुरक्षा समूह की अध्यक्ष लालसा देवी के घर एटीएम सतीश सिंह, रवि शंकर सिन्हा व उन्नति मशरूम केंद्र के कुणाल कुमार की देखरेख में ओयस्टर मशरूम की खेती की शुरुआत करायी गयी. इस मौके पर एटीएम सतीश सिंह ने बताया कि मशरूम बिना भूमि की खेती है. इसे अंधेरे कमरे में उगाया जाता है.इसे शाकाहारी मांंस भी कहा जाता है. इसे बनाने की विधि बताने के क्रम में एटीएम श्री सिंह ने बताया कि सबसे पहले गेहूं के भूसे को गर्म पानी में उबालकर छाना जाता है. फिर उसे छायादार जगह पर बिछाकर सुखाया जाता है. फिर पांंच किलोग्राम के पॉलीथिन में चार से पांच इंच भूसा डालकर दबाकर उसके ऊपर मशरूम का बीज (स्पान) चारोंं तरफ छिंंट दिया जाता है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

फिर भूसे की तह बनायी जाती है. इस प्रकार पांच सतह बनाकर ऊपर से दबाव देकर कस कर बांध दिया जाता है. वहीं बैग में 15 जगह होल कर दिया जाता है.पुनः सिक्सर नुमा बनाकर टांगा दिया जाता है.एटीएम श्री सिंह ने इसका प्रैक्टिकल करके दिखाया.वहीं उन्नति मशरूम केंद्र कृषक हित समूह के संचालक कुणाल कुमार ने मशरूम की खेती के बारे मेंं विस्तारपूर्वक जानकारी दी. साथ ही, उन्होंने मशरूम के बाई प्रोडक्ट के बारे मेंं जानकारी भी दी. मशरूम बैग तैयार करने समय सहायक तकनीकी प्रबंधक सतीश सिंह, रवि शंकर सिन्हा, उन्नति मशरूम केंद्र कृषक हित समूह के कुणाल कुमार,लालसा देवी, गायत्री देवी, बसंती देवी, नीलम देवी, सुशील देवी,रिंकी देवी आदि मौजूद थे.