भगवानपुर हाट: भाजयुमो उपाध्यक्ष को कट्टे के साथ पकड़ पुलिस के हवाले किया

0
giraftar
  • पूर्व मुखिया के आवेदन पर आर्म्स एक्ट का मामला दर्ज
  • प्रफुल्ल ने चुनावी रंजिश में फंसाने की साजिश बताया

परवेज अख्तर/सिवान: पंचायत चुनाव बीतने के बाद चुनावी रंजिश के मामले सामने आने लगे हैं। थाना क्षेत्र के बलहां एराजी पंचायत के मैरी मकसुसपुर गांव में गुरुवार की देर रात भाग रहे तीन युवकों में दो को तत्काल पकड़ लिया गया। आरोप लगाया गया है कि वे लोग पूर्व मुखिया हरेश कुमार सिंह के घर पर फायरिंग कर भाग रहे थे। जब उनका पीछा किया गया तो दो उनमें से दो युवक भाजयुमो उपाध्यक्ष पंडित के रामपुर गांव के प्रफुल्ल राज पांडेय व उसी के गांव के अनुज पांडेय को लोगों ने पकड़ लिया। जबकि तीसरा युवक आलोक पांडेय भाग गया। तलाशी लेने पर प्रफुल्ल राज पांडेय के पॉकेट से देशी कट्टा बरामद हुआ। लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। इसकी सूचना मिलने पर तत्काल एएसआई आफताब आलम व सीपी पासवान घटनास्थल पहुंचकर दोनों युवकों को हिरासत में लेकर थाना लाया। शुक्रवार को फरार हुए तीसरे आरोपित आलोक पांडेय को भी पुलिस ने पकड़ लिया। शुक्रवार को दोपहर तक यह मामला हाईटेक बना रहा। आरोपित भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष प्रफुल्ल राज पांडेय प्रखंड के जिला परिषद भाग संख्या- 40 से प्रत्याशी भी रहे हैं। इस मामले में पूर्व मुखिया हरेश कुमार सिंह के आवेदन पर तीनों युवकों के खिलाफ थाने में आर्म्स एक्ट का मामला दर्ज किया गया है। अपने आवेदन में पूर्व मुखिया श्री सिंह ने कहा है कि गुरुवार को करीब दस बजे रात में घर पर फायरिंग की आवाज सुनकर जब उनलोगों ने घर से बाहर निकलकर देखा तो तीन युवक भाग रहे थे। पीछा कर इनमें से दो को तत्काल पकड़ लिया गया। वहीं यह भी बताया जा रहा है कि जीते मुखिया के पक्ष में जश्न मनाने से नाराज होकर पूर्व मुखिया ने यह मामला दर्ज कराया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

निजी मुचलके पर जमानत देकर छोड़ा

इस मामले में थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि तीनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। थानाध्यक्ष ने बताया कि चूंकि यह मामला चुनावी रंजिश का प्रतीत होता है। इसलिए तीनों को दस-दस हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत देकर छोड़ दिया गया है और उन्हें हिदायत दी गई है कि वे अनुसंधान में सहयोग करेंगे, साक्ष्य के साथ छेड़छाड़ नहीं करेंगे और आवश्यकता पड़ने पर थाने में उपस्थित होंगे। उन्होंने कहा कि एफआईआर दर्ज कर घटना की जांच की जा रही है। वहीं इस मामले में प्रफुल्ल राज पांडेय ने कहा कि पूर्व मुखिया हरेश सिंह द्वारा चुनावी रंजिश को लेकर राजनीतिक साजिश के तहत मुझे फंसाया गया है।