BPSC पेपर लीक कांड में EOU की बड़ी कार्रवाई, भोजपुर के बड़हरा BDO समेत 4 लोग गिरफ्तार

0

पटना: 67वीं बीपीएससी पीटी प्रश्न पत्र लीक मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई को बड़ी कामयाबी मिली है. ईओयू (EOU) ने पूरे मामले की जांच करते हुए मंगलवार को भोजपुर जिले के बरहरा के प्रखंड विकास पदाधिकारी समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार अन्य तीनों लोग आरा के वीर कुंवर सिंह कॉलेज से जुड़े हुए हैं. आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी नैयर हसनैन खान ने चारों की गिरफ्तारी की जानकारी दी है. ईओयू के द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक 67वीं बीपीएससी संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा के प्रश्न पत्र वायरल होने के संबंध में आर्थिक अपराध थाना कांड संख्या-20/2022, दिनांक 09.05.2022, धारा-420/467/468/ 120(बी) भादवि, 66 आईटी एक्ट एवं धारा-3/10 बिहार परीक्षा नियंत्रण अधिनियम-1981 दर्ज किया गया है.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

अभी तक के अनुसंधान एवं संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ के क्रम में प्राप्त साक्ष्य (सबूत) के आधार पर आर्थिक अपराध इकाई के विशेष अनुसंधान दल द्वारा जिन चार लोगों को गिरफ्तार किया है, वो हैं…

1. जयवर्द्धन गुप्ता, प्रतिनियुक्त स्टैटिक दंडाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी, बड़हरा, जिला – भोजपुर

2. डॉ योगेन्द्र प्रसाद सिंह, पे स्व. गोपाल जी सिंह, सा.-बखोरापुर, थाना- बड़हरा, जिला- भोजपुर, वर्तमान प्राचार्य सह सेंटर सुपरइंटेंडेंट, कुंवर सिंह कॉलेज, आरा

3. सुशील कुमार सिंह, पे० स्व. हरिवंश सिंह, सा.-हरिजी का होता, थाना- नवादा, जिला- भोजपुर, वर्तमान व्याख्याता सह कंट्रोलर, कुंवर सिंह कॉलेज, आरा

4. अगम कुमार सहाय, ग्राम- फरना, थाना- बड़हरा, जिला- भोजपुर, व्याख्याता सह सहायक

सेंटर सुपर इंटेंडेंट, कुंवर सिंह कॉलेज, आरा

प्रथम दृष्टया अनुसंधान और परिस्थितियों के आधार पर हुई गिरफ्तारी

एडीजी नैयर हसनैन खान ने बताया कि अभी इस मामले का अनुसंधान चल रहा है. उन्होंने कहा कि यह करवाई प्रथम दृष्टया पार्क और परिस्थितियों के आधार पर की गई है. वहीं, ईओयू के अधिकारियों की मानें तो प्रश्न पत्र लीक और वायरल आरा के वीर कुंवर सिंह कॉलेज के अलावा और कहीं से भी हुआ होगा. इस बारे में अभी लंबी जांच प्रक्रिया चलेगी. फिलहाल गिरफ्तार किए गए सभी चारों लोगों को निगरानी की अदालत में पेश करने के लिए टीम लेकर निकल गई है.