पटना में 2 युवकों की गोली मारकर हत्या, RJD नेता भाई वीरेंद्र का भतीजा भी वारदात में शामिल

0

पटनाः राजधानी पटना से सटे बिहटा में शनिवार की देर रात भूमि विवाद में अपराधियों ने तीन लोगों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी जिसमें दो युवकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. वहीं तीसरा शख्स गंभीर रूप से जख्मी है जिसे इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मृतक प्रदीप कुमार और राहुल कुमार दोनों बिहटा थाना क्षेत्र के किशुनपुर के रहनेवाले हैं. घटना में आरजेडी नेता भाई वीरेंद्र के भतीजे का नाम भी सामने आया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

घटना से आक्रोशित लोगों ने रविवार की सुबह पटना-आरा मार्ग को जाम कर दिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. बताया जाता है कि जमीन का यह मामला बीते दो-तीन दिनों से गरमाया हुआ था. इसको लेकर एक पक्ष ने थाने को सूचना भी दी थी. यहां से बात नहीं बनी तो वरीय अधिकारियों को भी बताया लेकिन पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया और शनिवार को दो लोगों की जान चली गई जबकि तीसरा जिंदगी और मौत से जूझ रहा है.

घटना के बाद दहशत में हैं स्थानीय लोग

घटना के बाद रात से ही पुलिस मौके पर कैंप कर रही है, लेकिन परिजन और स्थानीय लोगों का हंगामा जारी रहा. दानापुर डीएसपी संतोष कुमार भी घटनास्थल पर पहुंचे. रामबाग स्थित मचा स्वामी मठ के समीप किशनपुर गांव में वारदात को अंजाम दिया गया है. घटना के बाद स्थानीय लोग भी दहशत में हैं. परिजन पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहें हैं.

मृतक के भाई ने कई लोगों पर लगाया आरोप

बताते चलें कि तीन कट्ठा जमीन पर वर्षों से विवाद चल रहा रहा था. इसी बीच राहुल और प्रदीप ने इसकी रजिस्ट्री कराने के बाद इसकी घेराबंदी कर रहे थे. एक ही दिन में ही दस फीट की बाउंड्री बना दी गई. शनिवार की रात तीनों युवक बाउंड्री कराने के बाद वहीं सो रहे थे. इस मामले में स्थानीय लोग पुलिस को ही जिम्मेदार मान रहे हैं. मृतक के भाई प्रकाश कुमार सिंह ने बताया कि इसमें गांव के ही लोगों का हाथ है. उन्हीं लोगों ने मिलकर ऐसा करवाया है. इस मामले में जल्द से जल्द जांच कर जो दोषी है उसे सजा दी जाए. इस मामले में प्रकाश कुमार ने कहा कि घटना में भाई वीरेंद्र का भतीजा सोनू भी शामिल है.