बिहार: आपदा प्रबंधन विभाग का अलर्ट, इन जिलों में वज्रपात की आशंका, घरों से न निकलें लोग

0

पटना: बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान ‘यास’ के असर से बिहार के अधिकतर जिलों में लगातार बारिश जारी है. इस बीच मौसम विभाग के साथ ही आपदा प्रबंधन विभाग ने प्रदेश के कुछ जिलों में वज्रपात की चेतावनी जारी की है. खासतौर पर दक्षिण और पूर्वी बिहार के कुछ जिलों में अगले 24 से 48 घंटों में ठनका गिर सकता है. वहीं, मध्य बिहार में भी कुछ जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने की आशंका है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

आपदा प्रबंधन विभाग ने इसको लेकर अलर्ट भी जारी किया है. फिलहाल कटिहार के बारसोई, कदवा, हसनगंज, कोढ़ा, बरारी, सदर, दण्डखोरा, आजमनगर, मनसाही, मनिहारी, अमदाबाद में अलर्ट जारी किया गया है. वहीं, भागलपुर के पीरपैंती में भी ठनका गिरने की चेतावनी जारी की गई है. इस दौरान लोगों से घरों से बाहर न निकलने की अपील की गई है.

वहीं, कई जिलों में लगातार हो रही बारिश के कारण जगह-जगह जलजमाव हो गया है. फिलहाल पटना के अलावा भागलपुर, पूर्णिया, बक्सर, गया सहित कई जिलों में तेज बारिश हो रही है. पटना में सड़कों पर जलजमाव हो गया है. कटिहार में दो दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश के कारण कई घरों में भी पानी प्रवेश कर गया है. नदियों का जलस्तर भी धीरे-धीरे ऊपर उठने लगा है.

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विवेक सिन्हा के अनुसार, राज्य भर में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश अगले दो दिनों तक होने की वजह से कुछ जगहों पर जलजमाव या बाढ़ जैसी स्थिति बन सकती है. चूंकि चक्रवाती सिस्टम अब कम दबाव के क्षेत्र के रूप में बदल गया है, इस वजह से मौसम की तीव्रता भी कम हो गई है. यानी पहले किए गए पूर्वानुमान से भी कम बारिश और हवा की गति सूबे में दिखेगी.

बिहार में यास तूफान कमजोर पड़ रहा है, जिससे जान-माल की अधिक क्षति नहीं होगी. हालांकि, मौसम विभाग ने इस दौरान लोगों को घरों से न निकलने की सलाह दी है. तूफान के कमजोर होकर धीरे-धीरे पूर्वी उत्तर प्रदेश की ओर आगे बढ़ने के आसार हैं. शुक्रवार तक यह पूर्वी उत्तर प्रदेश पहुंच जाएगा, तब तक इसकी तीव्रता काफी कमजोर हो जाएगी. बिहार में मौसम का हाल शनिवार को भी ऐसा ही रहने का अनुमान है.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here