आरजेडी के बिहार बंद का जिले में दिखा मिलाजुला असर

0

समर्थन में कांग्रेस एवं रालोसपा पार्टी के कार्यकर्ता भी उतरे सड़क पर

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

परवेज अख्तर/सिवान : बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस बिल को लेकर विधानसभा में पुलिसकर्मियों के विपक्षी विधायकों के साथ मारपीट की घटना को लेकर तेजस्वी के बिहार बंद के आह्वान के बाद जिले के विभन्न क्षेत्रो में महागठबंधन कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन किया. आरजेडी का यह बिहार बंद का जिले में  ग्रामीण क्षेत्रों की अपेक्षा शहर में अधिक दिखा.शहर के विभिन्न प्रमुख चौक चौराहों पर आरजेडी कार्यकताओं ने सुबह से ही शहर में प्रवेश करने वाले सभी मार्गों को अवरुद्ध कर दिया. इससे ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले लोग शहर में प्रवेश नहीं कर पाये.

प्राइवेट वाहनों से अस्पताल इलाज कराने आने वाले लोगों को शहर में प्रवेश करने में काफी परेशानी हुयी. उन्हें सर्कीण गलियों से होकर जाना पड़ा. वहीं प्रदर्शनकारियों ने एंबुलेंस को जाने का रास्ता दिया. प्रदर्शन कारियों ने शहर में सुबह से ही प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुये बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस अधिनियम-2021 जैसे काले कानून के खिलाफ बिहार विधानसभा में अपना विरोध दर्ज कराने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इशारे पर राजद सहित विपक्षी विधायकों की निर्मम पिटाई तथा युवा राजद द्वारा लोकतांत्रिक तरीके से विधानसभा घेराव के दौरान राजद कार्यकर्ताओं की बर्बर पिटाई तथा महिलाओं के साथ बदतमीजी का विरोधकिया.

बंद में शामिल होने वालों में मुख्य रूप से को ऑपरेटिव बैंक अध्यक्ष रामायण चौधरी ,प्रदेश महासचिव ओसीहर यादव, हरेंद्र सिंह पटेल, युवा जिला अध्यक्ष विक्रांत सिंह, जिला पार्षद सुशील कुमार डब्लू, जिला पार्षद ललन यादव, उज्जवल गिरी, विपिन कुशवाहा, अश्वत्थामा यादव, शैलेंद्र यादव, जय प्रकाश चौधरी, लालबाबू चौधरी, लकी बाबू, मो. इम्तियाज, प्रखंड अध्यक्ष राज किशोर यादव, जितेंद्र सिंह, उपेंद्र यादव मुखिया, चंद्रिका राम , कमलेश प्र., सैयद इकबाल अहमद, श्रीकांत यादव, अमरकांत यादव, चंद्रमा यादव, मंटू यादव, नरेश साह, संजय यादव, सहित कई लोग शामिल थे.