भकचोन्हर से आगे बढ़ी बिहार की राजनीति, मांझी की बहू ने लालू की बेटी को कहा ‘लबरी’

0

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

बिहार की राजनीति भकचोन्हर से आगे बढ़ चुकी है और अब नए शब्द की एंट्री हुई है “लबरी”. बिहार की राजनीति में लबरी शब्द की एंट्री पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की बहू दीपा मांझी ने की है. अब आपको बताते हैं कि पूरी कहानी क्या है और लबरी शब्द की एंट्री बिहार की राजनीति में कैसे हुई ?

बिहार की राजनीति में पिछले दिनों आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद ने भकचोन्हर शब्द का इस्तेमाल करके खूब सुर्खियां बटोरी. लालू ने बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास के लिए इस शब्द का प्रयोग किया था. लालू के विरोधियों ने उन पर हमला किया और कहा कि उन्होंने भक्त चरण दास के लिए अपशब्द का प्रयोग किया है तो लालू ने अपने बचाव में कहा कि इस शब्द का बिहार में अर्थ होता है ‘नासमझ’.

लेकिन अब बिहार की राजनीति भकचोन्हर से आगे बढ़ चुकी है और अब नए शब्द की एंट्री हुई है “लबरी”. बिहार की राजनीति में लबरी शब्द की एंट्री पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की बहू दीपा मांझी ने की है. अब आपको बताते हैं कि पूरी कहानी क्या है और लबरी शब्द की एंट्री बिहार की राजनीति में कैसे हुई ?

लालू की बेटी ने साधा नीतीश कुमार पर निशाना

दरअसल, 8 नवंबर को लालू की बेटी रोहिणी आचार्य जो सिंगापुर में रहती हैं, उन्होंने अपने पिता के समर्थन में एक ट्वीट किया और इशारों-इशारों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला. रोहिणी आचार्य ने लिखा ‘जन नेता लालू जी के दामन पर दाग लगा कर सत्ता की कुर्सी, जिसने पाई है वर्षों सत्ता में रहने के बावजूद भी..दर्जनों घोटाले का अंजाम देकर, बिहार को फिसड्डी राज्य बना कर, बेशर्मी की चादर ओढ़ कर, दलालों की फौज बनाकर, खुद के गुणगान में ही बिहार के गौरवशाली इतिहास को कलंकित करने में लगा है.

जीतन राम मांझी की बहू ने दिया जवाब

रोहिणी आचार्य ने अपने ट्वीट के जरिए नीतीश कुमार पर हमला क्या बोला उनके बचाव में जीतन राम मांझी की बहू दीपा मांझी मैदान में उतर गईं और रोहिणी के ट्वीट पर बिल्कुल ठेठ अंदाज में जवाब दिया. रोहिणी आचार्य पर पलटवार करते हुए दीपा मांझी ने उन्हें सिंगापुरिया महारानी कहा और लबरी बताया.

दीपा मांझी ने लिखा, ”अरे हमर सिंगापुरिया महारानी. लालू चाचा के दामन पर दाग कोई नहीं लगाया है.. गाय गेरू के चारा चोरी में शिवानंद तिवारी चाचा की कृपा से उनको कोर्ट सजा दिया है. अब सजायाफ्ता तोहरा जन नेता लग रहे हैं तो एकरा से बड दलाली का होगा. लबरी”.

क्या अर्थ है लबरी का?

अब आपको बताते हैं कि बिहार में बोली जाने वाली भोजपुरी भाषा में लबरी और लबरा शब्द का खूब प्रयोग किया जाता है. दरअसल, लबरी उस महिला के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो झूठ बोलती है या बिना कारण बहुत ज्यादा बोलती है. इसी प्रकार से लबरा उस व्यक्ति के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो बहुत ज्यादा झूठ बोलता है.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here