सृजन घोटाला मामले में भाजपा नेता की पत्नी पटना एयरपोर्ट से गिरफ्तार

0

पटना: सृजन घोटाला मामले में भाजपा नेता विपिन शर्मा की पत्नी रूबी शर्मा को सीबीआई ने शुक्रवार को पटना एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया है। वह इंडिगो एयरलाइंस में साहिल कुमार के साथ आई थी और लोकनायक जयप्रकाश एयरपोर्ट पटना में उतरते ही सीबीआई ने उसे गिरफ्तार कर लिया। रूबी शर्मा और भागलपुर से गिरफ्तार पुर्णेंदु कुमार को शुक्रवार को सीबीआई की अदालत में पेश किया गया। इसके बाद दोनों को जेल भेज दिया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

इससे पूर्व ईडी ने मनी लांड्रिंग के मामले में सृजन घोटाले के मास्टरमाइंड पीके घोष को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। ईडी ने पीके घोष को पांच दिनों के लिए रिमांड पर लिया है। विशेष न्यायिक दंडाधिकारी अनंत कुमार ने सृजन घोटाला मामले में गुरुवार को (आरसी 6(ए)/18) सुनवाई की और मामले से जुड़े आठ लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। इसमें रूबी कुमारी व पुर्णेंदु कुमार शामिल थे। गुरुवार की देर रात सीबीआई की टीम ने पुर्णेंदु कुमार को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि रूबी कुमारी को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया।

अपर्णा वर्मा व राजरानी के घर पर सीबीआई की टीम शुक्रवार को दबिश दी और एक महिला को गिरफ्तार कर ले गई। टीम पूरे दिन सबौर में वर्मा के घर डटी रही। अन्य लोगों को सीबीआई तलाश कर रही है। सीबीआई ने आरसी 6(ए)/ से जुड़ा मामला 2018 में दर्ज किया था। जिसके बाद कोर्ट ने 11 फरवरी 2021 को संज्ञान लिया। अदालत ने अलग-अलग सुनवाई के दौरान कई आरोपियों के खिलाफ समन और जमानतीय वारंट जारी किए, लेकिन कोर्ट समन के बाद भी मामले के आरोपित कोर्ट में हाजिर नहीं हो रहे थे।

सीबीआई कोर्ट ने अमित कुमार की पत्नी रजनी प्रिया, प्रणव कुमार की पत्नी सीमा देवी, मु.शकील अहमद की पत्नी जेस्मा खातून, समर समरेंद्र की पत्नी राजरानी वर्मा, अभिषेक कुमार की पत्नी अर्पणा वर्मा, विपिन वर्मा की पत्नी रूबी कुमारी, पुर्णेदू कुमार व सतीश कुमार के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया है। वारंट जारी होने वालों में सृजन संस्था की संस्थापक मनोरमा देवी की बहू रजनी प्रिया भी है जो कार्यकारिणी की सचिव थी। जब घोटाला उजागर हुआ उसके बाद से रजनी प्रिया भूमिगत हो गई है। जिस मामले में कोर्ट ने गुरुवार को सुनवाई की वह मामला 1.36 करोड़ 93 लाख रुपये से अधिक का था। आरोप है कि मामले के आरोपित सरकारी राशि को डायवर्ट कर सृजन विकास महिला सहयोग समिति लिमिटेड के खाते में रकम मंगा लेते थे।