पुरूष नसबंदी पखवाड़ा के सफल क्रियान्वन को लेकर प्रखंडस्तरीय समन्वय समिति की बैठक

0
  • प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी की अध्यक्षता में हुई बैठक
  • लक्ष्य प्राप्ति के लिए दिये आवश्यक निर्देश
  • अंर्तविभागीय सहभागिता से सफल होगा पखवाड़ा

गोपालगंज: जिले में जनसंख्या स्थिरिकरण को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से कई महत्वपूर्ण कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं। ऐसे में पुरूष नसबंदी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पुरूष नसबंदी पखवाड़ा चलाया जा रहा है। जो 23 नवंबर से 6 दिसंबर तक पखवाड़ा चलेगा। इसी क्रम में पखवाड़ा के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए जिले के कुचायकोट व फुलवरिया, पंचदेवरी प्रखंड में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी की अध्यक्षता में समन्वय समिति की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में यह निर्देश दिया गया कि मिशन परिवार विकास अभियान के दौरान इच्छुक एवं योग्य दंपतियों को परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थाई साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित करें। पखवाड़ा के दौरान अधिक से अधिक पुरूष नसबंदी के लिए आयें, यह सुनिश्चित किया जाये। बैठक में कुचायकोट के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. शाहिद नाजमी, बीएचएम अजीत कुमार, केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक डॉ. दिनेश कुमार मौर्या, बीएम रंजीत कुमार सिंह, पंचदेवरी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. उपेंद्र प्रसाद, बीएचएम रोहित कुमार, केयर बीएम अभिनित कुमार, फुलवरिया के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. राजीव रंजन कुमार, बीएचएम शैलेंद्र कुमार, बीएम केयर सोनू कुमार, सीएचसी केयर कृति कुमारी, सीडीपीओ, पंचायती राज पदाधिकारी, केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक, विकास मित्र, बीसीएम, महिला सुपरवाइजर शामिल थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

कंडोम और गर्भनिरोधक गोली- माला-एन, छाया के अतिरिक्त पैकेट का वितरण

केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक डॉ. दिनेश कुमार मौर्या ने बताया कि सभी सर्विस डिलेवरी प्वाइंटस पर डिस्प्ले ट्रे, कंडोम बॉक्स स्थापित करते हुए गर्भनिरोधक का वितरण किया जा रहा है। पखवाड़े के दौरान आशा द्वारा कंडोम एवं गर्भनिरोधक गोलियों के वितरण पर विशेष जोर दिया जा रहा है। लाभार्थी को बार-बार केंद्रों पर आने एवं बार-बार संपर्क से बचने के लिए कंडोम और गर्भनिरोधक गोली- माला-एन, छाया के अतिरिक्त पैकेट का वितरण हो रहा है। पखवाड़े के दौरान परिवार नियोजन के अस्थायी सेवाओं के साथ पुरूष नसबंदी पर विशेष बल दिया दें।

योग्य दंपतियों की हो रही है काउंसलिंग

स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा स्वास्थ्य केंद्रों पर आने वाले योग्य दंपति को गर्भनिरोधक के संबंध में परामर्श देते हुए इच्छित गर्भनिरोधक साधन अथवा सेवा इच्छानुसार उपलब्ध कराया जा रहा है। प्रमुख स्थलों पर बैनर और पोस्टर को पुरूष नसबंदी पखवाड़े के उत्सव को प्रदर्शित किया गया है।

कोविड-19 से बचाव के लिए जारी प्रोटोकॉल का पालन

जारी पत्र में यह निर्देश दिया गया है कि वर्तमान में देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है। इसलिए कोविड-19 से बचाव के लिए जारी प्रोटोकॉल का पालन करते हुये लाभार्थियों तक प्रजनन स्वास्थ्य संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करना पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है, क्योंकि गर्भनिरोधक के उपयोग में गिरावट का अर्थ होगा कि देश को एक अतिरिक्त बिना आवश्यकता एवं अनचाहे गर्भ धारण का सामना करना वर्तमान परिस्थिति में पुरुष नसबंदी अधिक महत्वपूर्ण है। क्योंकि यह एक लघु शल्य प्रक्रिया है तथा महिला नसबंदी की तुलना में अपेक्षाकृत अधिक सुरक्षित और सरल है। इसके लिए न्यूनतम संसाधनों, बुनियादी ढांचे और अनुवर्ती देखभाल की आवश्यकता होती है।