सरैया गांव में वृद्ध की पिट-पिट कर हत्या , दो पुत्र घायल

0
pattidar

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के भरतपुरा पंचायत के सरैया गांव में रविवार की रात श्मशान की जमीन पर अतिक्रमण को लेकर दो पक्षों के बीच मारपीट हो गई। इस दौरान पट्टीदारों द्वारा लाठी-डंडे से किए गए वार में गंभीर रूप से घायल एक वृद्ध ने इलाज के क्रम में पटना में दम तोड़ दिया। जबकि दो पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना के बाद मौत की सूचना जैसे ही लोगों को मिली हमलावर घर छोड़कर फरार हो गए। इधर पटना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। मृतक गांव निवासी रामजीत महतो बताए जाते हैं। जानकारी के अनुसार रविवार की शाम श्मशान की जमीन पर अवैध अतिक्रमण को रोकने के दौरान हुई गांव के कुछ लोगों के साथ मारपीट हो गई। अपने पुत्रों के साथ मारपीट होते देख पिता रामजीत महताे वहां पहुंचे तो हमलावरों ने उनकी भी जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद सभी घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया, जहां स्वामीनाथ महतो एवं हरिनाथ महतो का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। वहीं इनके पिता रामजीत महतो की स्थिति गंभीर होने के कारण चिकित्सकों ने उन्हें पीएमसीएच रेफर कर दिया, जहां इलाज के दौरान मौत हो गई। घायल स्वामीनाथ महतो के फर्द बयान पर पुलिस ने सरैया गांव निवासी विभिषण महतो के पुत्र राजेश महतो, राजेश महतो के पुत्र सूरज महतो, रामबाबू महतो, चंद्रमा महतो तथा उनकी पत्नी शर्मावती देवी तथा गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के छितौली गांव निवासी दिनेश महतो समेत चार-पांच अज्ञात के विरुद्ध नामजद प्राथमिकी दर्ज की है। दर्ज प्राथमिकी में यह आरोप लगाया गया है जब मैं अपने गांव स्थित श्मशान स्थित पुलिया के पास पहुंचा तो उपरोक्त लोग मुंह बांधे हुए एक सोची-समझी साजिश के तहत अचानक जान से मारने की नीयत से हमला बोल दिया। हल्ला सुन मेरे पिता तथा मेरे भाई बचाने पहुंचे तभी मेरे पिता को जान से मारने की नीयत से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया। इस संदर्भ में थानाध्यक्ष अकील अहमद ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि मृतक के घायल पुत्र के फर्द बयान पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। दर्ज प्राथमिकी के सभी नामजद अभियुक्त घर छोड़ कर फरार हो गए हैं, जिसकी गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।