पिंटू वर्मा हत्याकांड मामले में बहनोई चंदन गया जेल

0
giraftari

मृतक के पिता लिया अपने ही दामाद का नाम

परवेज अख्तर/सिवान:- शनिवार को हत्या कर फेके गये शव बरामदी मामले में आखिरकार बहनोई चंदन ही जेल चला गया।हालांकि घटना के बाद से ही इस मामलों में चंदन का नाम आने लगा था।वही रविवार को मृतक के पिता ने भी अपने दामाद पर हत्या का आरोप लगाते हुये एफआईआर दर्ज करा दी।दर्ज एफआईआर के अनुसार मृतक पिंटू के पिता श्यामदेव वर्मा ने कहा है कि मेरी चार बेटियां है।एक बेटी सोनी कुमारी की शादी मझौली रोड निवासी चंदन वर्मा से हुयी है।शादी के करीब 20 वर्ष पूर्व किया है।शादी के बाद अबतक बेटी को कोई औलाद नही हुआ है।जिसको लेकर चंदन अक्सर बेटी को मारता-पिटता था।वही मेरे घर भी बेटी को पहुंचा दिया जाता था।जब भी घर आता तो बेटी को मारता था।इसी तरह मारने-पिटने पर एक बार मेरे बेटे पिंटू ने मारने का विरोध किया था।जिसके बाद चंदन ने पिंटू को भी मारा था। जब विरोध हुआ तो चंदन ने कहा था कि मै तुम्हारे तीनों बेटो को गोली मार दुंगा।उसके बाद वर्ष 2016 में पिंटू विदेश चला गया।तबीयत खराब होने पर दो साल बाद वो घर आ गया था।अभी भी उसका ईलाज चल रहा था।27 दिसंबर को साढ़े छह बजे मेरे बेटे पिंटू के मोबाईल पर अज्ञात नंबर से बार-बार फोन आ रहा था।जिसके बाद वो घर के लोगों से बोला कि बाजार जा रहा हूं।अभी आता हूं।मगर बाजार जाने के बाद उसका मोबाईल भी बंद हो गया।काफी खोजबीन करने पर भी उसका पता नही चला।सुबह में पता चला कि एक युवक का शव बाबू टोला के पास पडा है।बाद में पता चला कि वो शव पिंटू का ही है।जिसकी हत्या गोली मारकर कर दी गयी है।मृतक के पिता ने यह भी कहा है कि करीब 20 दिन पूर्व भी बाजार मे चंदन ने बोला था कि मै तुम्हारे तीनों बेटो को गोली मार दुगा। मृतक के पिता के द्वारा अपने ही दामाद पर नायजद एफआईआर कराने के बाद पीडित ने उचित कार्रवाई करने की मांग की है।वहीं पुलिस ने दामाद चंदन को साले की हत्या के आरोप में जेल भेज दिया है

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
vigyapann
ads