कैंसर लाइलाज नहीं है, समय पर उपचार एवं पहचान से बच सकती है जान: सिविल सर्जन

0
  • विश्व कैंसर दिवस पर स्वास्थ्य संस्थानों लगा कैंप
  • चिकित्सकों ने की मरीजों की स्क्रिनिंग
  • एक सप्ताह तक चलेगा नि:शुल्क परामर्श शिविर

छपरा: कैंसर जैसे भयानक बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए राष्ट्रीय व राज्य स्तर पर कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। वहीं, राज्य स्वास्थ्य समिति भी विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन करती है। इसके लिए चार फरवरी को प्रत्येक वर्ष पूरे विश्व में कैंसर दिवस मनाया जाता है। गुरूवार को जिले सभी स्वास्थ्य संस्थानों पर नि:शुल्क कैंसर रोग परामर्श शिविर का आयोजन किया गया। सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने कहा कि कैंसर पहले के दशकों में लाइलाज हुआ करता था। आज के समय में कैंसर का इलाज पूरी तरह संभव है। लेकिन, इसके लिए समय पर इसकी पहचान बेहद जरूरी है। ताकि, समय पर मरीज का इलाज शुरू कर उसकी जान बचाई जा सके। शिविर के दौरान चिकित्सकों द्वारा सामान्य कैंसर रोगियों की पहचान की जाएगी। संभावित कैंसर मरीज को बेहतर उपचार के लिए पटना स्थित महावीर कैंसर अस्पताल, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, पटना मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल एवं एम्स में रेफर किया जाएगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

निःशुल्क जांच के साथ परामर्श लेने की भी सुविधा

जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीसी रमेश चंद्र कुमार ने बताया कि जिले के सदर अस्पताल, अनुमंडल अस्पताल व रेफरल अस्पताल में शिविर का आयोजन किया गया है। साथ ही, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर कैंसर जांच एवं परामर्श शिविर का आयोजन किया गया है। इस दौरान यहां आने वाले लोगों की कैंसर की निशुल्क जांच की जाएगी। साथ ही, कुछ समान्य कैंसर जैसे ब्रेस्ट कैंसर एवं मुंह के कैंसर इत्यादि के संभावित कारणों, लक्षणों एवं उससे बचाव के लिए जरूरी परामर्श भी दिए जाएंगे।

विश्व कैंसर दिवस 2021 की थीम

इस साल विश्व कैंसर दिवस की थीम जीवन के प्रति एक सकारात्मक नजरिया देती है। इस वर्ष कैंसर जागरुकता अभियान की थीम ‘आई एम एंड आई विल’ है। यानि मैं हूं और मैं रहूंगा रखी गई है। थीम यह प्रचारित करती है कि किसी व्यक्ति के कार्य कैसे प्रभावी हो सकते हैं। यह दर्शाता है कि हर क्रिया कैंसर से लड़ने के लिए मायने रखती है। “यह वर्ष सहयोग और सामूहिक कार्रवाई की हमारी स्थायी शक्ति की याद दिलाता है। जब हम एक साथ आने का विकल्प चुनते हैं, तो हम वह हासिल कर सकते हैं जिसकी हम इच्छा करते हैं। यानि कैंसर के बिना एक स्वस्थ, उज्जवल दुनिया। ऐसे में आपके आसपास भी कोई ऐसा व्यक्ति है, जो कैंसर से लड़ाई लड़ रहा है, तो आप छोटे-छोटे प्रयास करके उसके जीवन में रंग भरकर उसके चेहरे पर एक मुस्कान ला सकते हैं।

कैंसर के मुख्य संकेत

  • शरीर के किसी अंग में असामान्य असामान्य सूजन का होना
  • तिल या मस्सों के आकार या रंग में परिवर्तन
  • लगातार बुखार या वजन में कमी
  • घाव का लंबे समय से नहीं भरना
  • 4 हफ्ते से अधिक समय तक अकारण दर्द का रहना
  • मूत्र विसर्जन में कठिनाई या दर्द का होना
  • शौच से रक्त निकलना
  • स्तन में सूजन या कड़ापन का होना
  • 3 सप्ताह से अधिक लगातार खाँसी या आवाज का कर्कश होना
  • असामान्य रक्त प्रवाह या मासिक धर्म के बाद भी योनी से रक्त का निकलना