छपरा: कोविड-19 टीकाकरण के प्रति फैली भ्रांतियों के खिलाफ चलेगा जागरूकता अभियान

0
  • सहयोगी संस्थाओं के प्रतिनिधियों का लिया जायेगा सहयोग
  • ग्रामीण स्तर पर वैक्सीन को लेकर लोगों में फैली है भ्रांति
  • जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग करने की अपील

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए कोविड-19 का टीकाकरण अभियान जिले में जोर-शोर से चल रहा है। टीकाकरण के प्रति अभी ग्रामीण स्तर पर समुदाय में काफी अफवाह व भ्रांतियां फैली हुई हैं। भ्रांतियों को दूर करने का लगातार प्रयास स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किया जा रहा है। अब इसी कड़ी में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। जारी पत्र में निर्देश दिया गया है कि कोविड 19 टीकाकरण के द्वितीय खुराक का आच्छादन अपेक्षानुरूप नहीं है। इसके लिए विभिन्न स्तर पर इसके अनुश्रवण के साथ साथ स्थानीय स्तर पर लाभार्थियों को जागरूक किये जाने और उनमें टीकाकरण के प्रति व्याप्त भ्रांतियों को दूर करते आच्छादन को सुदृढ़ किया जाना आवश्यक है। इस अभियान में सहयोगी संस्थाओ जैसे- विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनिसेफ व केयर इंडिया के द्वारा सहयोग किया जायेगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

सेकेंड डोज ले लाभार्थियों को करें जागरूक

पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि द्वितीय खुराक के आच्छादन के सुदृढीकरण के लिए स्थानीय स्तर पर आपके संस्था के कर्मियों द्वारा उत्प्रेरकों (आशा / आंगनबाड़ी, पंचायत सदस्य आदि) के माध्यम से आमजन में व्याप्त भ्रांतियों को दूर करते हुए उनका टीकाकरण कराने में आवश्यक सहयोग उपलब्ध कराया जाय।

टीकाकरण अभियान को सफल बनाना हम सबकी जिम्मेदारी

सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने कहा टीकाकरण अभियान को सफल बनाना जिलेवासियों का भी कर्तव्य है। ताकि टीका लेकर हम स्वयं को तो सुरक्षित कर ही सकें साथ ही साथ अपने परिवार व समाज को भी संक्रमण प्रसार से बचा सकें। इसके लिए सरकार के साथ साथ प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग भी निरंतर प्रयास कर रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिए नियमित रूप से आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये जा रहे हैं। कोविड-19 संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करने के लिए जिले में व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है।

भ्रांतियों को दूर करके ही लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है

सिविल सर्जन ने कहा कि जिले में 18 से 44 वर्ष व 45 या उससे अधिक उम्र के लोगों को टीका देने का काम चल रहा है, लेकिन अभी भी टीकाकरण के प्रति समाज में तरह-तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं। भ्रांतियों को जब तक दूर नहीं किया जाएगा तब तक शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा नहीं किया जा सकता है। उन्होंने बताया, ग्रामीण इलाक़ों में टीकाकरण केंद्रों का भ्रमण करने के दौरान समझ में आता है कि टीका को लेकर अभी भी लोगों के मन में कई शंका पनपती हैं। इसलिए सबसे जरूरी है कि ग्रामीण क्षेत्रों में फैलाई गई भ्रांतियों व अफवाहों को दूर किया जाए। जिससे टीकाकरण कार्य में तेज़ी आ सके।

ऐसे रोकें संक्रमण का प्रसार

  • एक साथ 2 मास्क का प्रयोग करें
  • आंतरिक स्थानों पर वायु संचार सुनिश्चित करें
  • दूरी बनायें रखने की संभव प्रयास करें
  • साबुन से नियमित हाथ साफ़ करते रहें
  • कोविड मरीजों को अलग कमरे में रखें
  • सतहों को नियमित रूप से कीटाणुनाशकों से नियमित रूप से साफ़ करें

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here