छपरा: मशरक में स्टांप पेपर की कालाबाजारी चरम पर,दूगने तीगुने दामों पर बिक रहे स्टांप पेपर

0

छपरा: जिले के मशरक थाना क्षेत्र में इन दिनों एग्रीमेंट, फायनांस जैसे कई कामों के लिए दूगने और तीगुने दामों पर स्टांप पेपर लेकर काम चलाने के लिए लोग मजबूर हैं। स्टांप की कालाबाजारी को लेकर स्थानीय लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। गौरतलब हो कि लॉकर लेने, प्रॉपर्टी मार्गेज कर लोन लेने, एजुकेशन लोन, बैंक गारंटी, हाउसिंग लोन, कार लोन में स्टाम्प पेपर जरूरी है। लेकिन, मजबूरी में लोग स्टांप पेपर पर नाजायज खर्च कर खरीद रहे हैं। वहीं, लोगों को जमीन और फ्लैट के एग्रीमेंट, रेंट एग्रीमेंट, पावर ऑफ अटार्नी के लिए भी स्टाम्प पेपर की किल्लत झेलनी पड़ रही है।मशरक प्रखंड कार्यालय में बैठने वाले दर्जनों वेंडर के पास स्टाम्प पेपर है, लेकिन सभी वेंडर्स एक-दूसरे से मिल कर स्टांप पेपर की कालाबाजारी कर रहे हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। यहां स्टांप पेपर बेचने के लिए दर्जनों अधिकृत विक्रेता पंजीकृत हैं पर हमेशा स्टांप पेपर की कमी बता कालाबाजारी चरम पर है।स्थानीय दिलीप सिंह ने बताया कि स्टांप वेंडरों से जब कोई स्टांप पेपर लेने जाता है, तो पहले नहीं रहने का बहाना बनाते हैं। बाद में ज्यादा राशि की मांग करते हैं। उन्होंने इसकी जांच कर उचित कार्रवाई की मांग कोषागार पदाधिकारी से की है। स्थानीय रंजन कुमार सिंह ने कहा कि प्रशासन की लापरवाही के कारण स्टांप पेपर नहीं मिल रहे हैं या मिल भी रहें हैं तो महंगे दूगने दामों पर बिक रहे हैं, जिस कारण आम लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।