छपरा: “टीका एक्सप्रेस” के अनुश्रवण व पर्यवेक्षण के लिए सिविल सर्जन ने किया टीम का गठन

0
  • जिलास्तरीय टीम को दी गयी अनुश्रवण की जिम्मेदारी
  • टीकाकरण अभियान के अनुश्रवण के लिए अलग-अलग प्रखंड आवंटित
  • आशा-सेविका और एएनएम के द्वारा किया जायेगा जागरूक

छपरा: कोरोना संक्रमण से बचाव तथा इसकी रोकथाम के लिए सकरात्मक प्रयास किये जा रहे हैं। संक्रमण से सुरक्षा के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के उद्देश्य से जिले के सभी प्रखंडों में चलंत वाहन के माध्यम से 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र वाले लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है। टीका एक्सप्रेस का अनुश्रवण करने को लेकर सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने जिलास्तरीय टीम का गठन किया है। टीम में कई पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों को अलग-अलग प्रखंड आवंटित किया गया है। प्रतिदिन टीका एक्सप्रेस के कार्यों का अनुश्रवण कर इसकी रिपोर्टिंग करने का निर्देश सिविल सर्जन ने दिया है। गांवों में कोविड टीकाकरण सत्र की सूचना ससमय संबंधित आशा, ए.एन.एम. जीविका एवं जनप्रतिनिधियों को दी जायेगी। आशा कार्यकर्ता एक दिन पूर्व संबंधित गांव में जाकर लाभार्थियों के उत्प्रेरण का कार्य सुनिश्चित करेंगी ताकि पर्याप्त संख्या में लाभार्थियों को टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। एक गांव में टीकाकरण का कार्य पूर्ण कर टीका एक्सप्रेस दूसरे गांव के दूसरे टीकाकरण सत्र के लिए प्रस्थान करेगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

टीका एक्सप्रेस में ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा

चलन्त टीकाकरण का कार्य सुबह 8 बजे से संचालित किया जा रहा है। चलन्त टीकाकरण के संचालन के लिए राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत कार्यरत एएनएम द्वारा टीकाकरण का कार्य संचालित किया जा रहा है तथा लाभार्थियों ( 45 वर्ष या इससे अधिक आयुवर्ग) का कोविन पोर्टल पर ऑन स्पॉट पंजीकरण करते हुये टीकाकरण किया जा रहा है।

इन पदाधिकारियों की गयी है प्रतिनियुक्ति

सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने टीका एक्सप्रेस के अनुश्रवण के लिए क्षेत्रीय मूल्यांकन सह अनुश्रवण पदाधिकारी, जिला योजना समन्वयक, आयुष्मान भारत को लहलादपुर, बनियापुर, एकमा, मांझी, रिविलगंज की जिम्मेदारी दी है। वहीं जिला अनुश्रवण सह मूल्यांकन पदाधिकारी को मशरक, पानापुर, मढौरा, तरैया, इसुआपुर, डीपीसी को सोनपुर, दरियापुर, अमनौर, परसा, मकेर तथा डीसीएम को दिघवारा, सदर प्रखंड, नगरा, जलालपुर, गड़खा प्रखंड में अनुश्रवण करने की जिम्मेदारी दी गयी है।

चलंत टीकाकरण शिविर में सिर्फ 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र वालो को लगेगी वैक्सीन

सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने कहा कि 45 वर्ष या इससे अधिक आयुवर्ग श्रेणी में टीकाकरण की प्रगति के दृष्टिगत एवं दूरस्थ ग्रामीण इलाकों में लाभार्थियों के घर के समीप टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराने एवं टीकाकरण सत्रों की संख्या बढ़ाने के उद्देश्य से टीका एक्सप्रेस चलाया जा रहा है । टीका एक्सप्रेस के माध्यम से ग्रामीण स्तर पर लोगों को टीकाकरण के लिए सत्र स्थल पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। क्योंकि अब आसानी से अपने घर के पास ही कोरोना का टीका लगवाया जा सकता है। इससे ना सिर्फ लोगों को वैक्सीन लेने में आसानी होगी बल्कि वैक्सीनेशन अभियान में भी गति आएगी। जिससे शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा भी किया जा सकता है। इस अभियान के तहत खासकर सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को प्राथमिकता के आधार पर चलंत वैक्सीनेशन शिविर लगाकर लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है।