छपरा: कोरोना की तीसरी लहर को लेकर विभाग अलर्ट, ट्रेन व अन्तरर्राज्यीय बसों से आने वाले यात्रियों की होगी टेस्टिंग

0
  • बस अड्डा व रेलवे स्टेशन पर की जायेगी कोरोना की जांच
  • स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने दिया निर्देश
  • होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की निगरानी

छपरा: जिले में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। जिले में कोरोना की जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने पत्र जारी कर निर्देश दिया है कि ट्रेन तथा अंतरर्राज्यीय बसों के माध्यम से अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों का उनके गंतव्य स्टेशन, बस अड्डों पर रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से सघन रूप से जांच करायी जाए। जाँच के परिणाम के आलोक में पूर्व में निर्गत निदेशों के आलोक में होम आइसोलेशन में रह रहे या कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों के स्वास्थ्य के निरंतर अनुश्रवन की व्यवस्था की जाए। जिन इलाकों में संक्रमण के मामले पाए जाते हैं वहाँ सघन जांच करायी जाए तथा संक्रमित व्यक्तियों की पहचान के उपरांत कंटैक्ट ट्रेसिंग निश्चित रूप से की जाए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

कोरोना जांच में तेजी लाने के लिए लक्ष्य निर्धारित

राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर निर्देश दिया है लक्ष्य के अनुरूप कोविड जांच का सैंपल संग्रह करना सुनिश्चित करें। जिला में शत-प्रतिशत कोविड टेस्टिंग कार्य सम्पन्न करना सुनिश्चित करेंगे। किसी भी स्थिति में लक्ष्य से कम जाँच स्वीकार्य नहीं होगा। जिले में प्रतिदिन 1000 आरटीपीसीआर तथा 90 ट्रूनेट जांच के लिए सैंपल लिया जायेगा। इसके साथ व्यापक स्तर पर रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से प्रखंड जिला व गांव स्तर पर कोरोना की जांच की जायेगी ।

स्वास्थ्य महकमा अब पूरी तरह से तैयार

सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने कहा कि सभी की कोशिश रहनी चाहिए कि कोरोना से बचाव के इंतजाम खुद भी करते रहें। ऐसा करने से तीसरी लहर आने की आशंका को ही कुंद किया जा सकता है। फिर भी यदि कोई आकस्मिक स्थिति हुई तो स्वास्थ्य महकमा अब पूरी तरह से तैयार है। कोरोना की तीसरी लहर में शून्य से 18 वर्ष तक के लोगों व बच्चों को अत्यधिक रूप से प्रभावित होने की आशंका व्यक्त की गई है। इस संभावित परिस्थिति में बीमार बच्चों की अनुमानित वृद्धि से निपटने व नियंत्रित करने के लिए पूर्व तैयारी की जा रही है।

लक्ष्य के अनुरूप सैंपल कलेक्शन सुनिश्चित करें

राज्य स्वास्थ्य समिति के निर्देशानुसार सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने पत्र जारी कर सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया है। सिविल सर्जन ने कहा कि लक्ष्य के अनुरूप सैंपल संग्रह करना सुनिश्चित करें। अधिक से अधिक व्यक्ति की सैंपल संग्रहित करें। पत्र के माध्यम से सभी स्वास्थ्य संस्थानों को आरटीपीसीआर जांच एवं रैपिड एंटीजन टेस्ट के लिए निर्देश दिया गया था। उक्त के आलोक में सभी स्वास्थ्य संस्थान आर टी पी सी आर का न्यूनतम 100 नमूना संग्रहित कर जिला को भेजेंगे एवं रैपिड एंटीजन का कम से कम 200 जांच करेंगे।