छपरा गोलीकांड : अपराधी नौटंकी सिंह ने दिया घटना को अंजाम

0

छपरा : जिले के मांझी थाना क्षेत्र के मुबारकपुर गांव में छठ पूजा के दौरान शुक्रवार की शाम को गोलीबारी की घटना में पांच लोगों के घायल होने की सूचना है। लोगों का कहना है कि अपराधी नौटंकी सिंह के द्वारा गोलीबारी की गई, जिसमें सिवान जिले के रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के गंभीरार गांव निवासी अनिल सिंह के पुत्र रितिक सिंह तथा मांझी थाना क्षेत्र के मुबारकपुर गांव निवासी तारा सिंह के पुत्र गोलू सिंह भी शामिल हैं

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मुबारकपुर गांव के दाहा नदी घाट पर अर्ध दान करने के दौरान दो पक्षों के बीच उत्पन्न विवाद में गोलीबारी हो गयी। इस घटना में पांच लोग जख्मी हो गये, जिन्हें इलाज के लिए एकमा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तथा अन्य स्थानों पर ले जाया गया है। घटना के कारणों का स्पष्ट रूप से पता नहीं चल सका है और घायलों का नाम पता भी ज्ञात नहीं हुआ है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गोली लगने से पांच लोग घायल हुए थे, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। इस घटना के कारण घाट पर अफरा तफरी मच गयी। छठ व्रतियों ने किसी तरह अर्ध दान पर घर वापस लौटे। इस घटना के कारण वहां भय व दहशत का माहौल है। सूचना पाकर मौके पर मांझी थाना की पुलिस पहुंच गई है और मामले की जांच कर रही है।

ग्रामीणों ने बताया कि घाट पर अर्ध दान करने के लिए सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु महिलाएं तथा उनके परिजन, बच्चे मौजूद थे। भक्ति गीत बज रहा था। चारों तरफ खुशी और उल्लास का माहौल था । अचानक गोलीबारी होने के कारण घाट पर अफरा-तफरी मच गयी। लोग कुछ समझ पाते तब तक वहां गोली लगने से 5 लोग घायल हो गये। जिसके कारण भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी। स्थानीय लोगों ने छठ व्रतियों को संभाला और स्थिति पर काबू किया। किसी तरह छठ व्रतियों ने पूजा अर्चना की और घर वापस लौटी। इस दौरान कुल कितने चक्र गोलियां चलाई गई प्रमाणिक तौर पर इसकी कोई पुष्टि नहीं हो पा रही है, लेकिन लोगों का कहना है कि करीब 10 राउंड से अधिक गोली चलाई गई। फायरिंग करने वाला अपराधी नौटंकी सिंह है।

किन कारणों से फायरिंग की गई?

यह अभी भी स्पष्ट नहीं हुआ है। गोली लगने से घायलों का बयान दर्ज नहीं हो सका है। मांझी थानाध्यक्ष नीरज मिश्रा ने बताया कि घायलों का बयान दर्ज होने के बाद ही घटना के कारणों तथा फायरिंग करने वालों के बारे में पता चल सकेगा।