छपरा: 10 जनवरी से बुजुर्गों और हेल्थ केयर वर्करों को दिया जायेगा प्रीकॉशन डोज

0
  • केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने जारी किया दिशा-निर्देश
  • प्रीकॉशन डोज के तौर पर समरूप वैक्सीन का लगेगा टीका
  • कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण है जरूरी

छपरा: जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ रही है। ऐसे में इससे निपटने को लेकर विभिन्न स्तर पर व्यापक रूप से तैयारी की जा रही है। जिले में अब 15 से 17 वर्ष तक किशोर-किशोरियों का टीकाकरण 3 जनवरी से शुरू हो चुका है। जिसके तहत स्कूल स्तर पर टीकाकरण सत्र आयोजित कर किशोरों का टीकाकरण किया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

अब इसी कड़ी में 10 जनवरी से 60 वर्ष से ऊपर बुजुर्गों, हेल्थ केयर वर्कर और फ्रंटलाइन वर्करों को प्रीकॉशन डोज दिया जायेगा। इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। जारी पत्र में कहा गया है कि बुजुर्गों, फ्रंटलाइन वर्करों और हेल्थ केयर वर्करों को को प्रीकॉशन डोज के तौर पर समरूप वैक्सीन की एक और डोज दी जायेगी। सशस्त्र बलों, गृह मंत्रालय और कैबिनेट सचिवालय के तहत विशेष बलों के सभी पात्र एचसीडब्ल्यूएस और एफएलडब्ल्यूएस को एहतियाती खुराक की सुविधा भी दी जा सकती है, जैसा कि उनके प्राथमिक दो खुराक टीकाकरण के दौरान किया गया था।

बुजुर्गों के टीके के लिए क्या है गाइडलाइंस

60 साल या इससे ऊपर के गंभीर बीमारियों से पीड़ित बुजुर्गों को डॉक्टरों की सलाह के आधार पर दूसरे डोज के 9 महीने या 39 हफ्ते बाद ही तीसरा डोज या बूस्टर डोज लगेगा।9 महीना या 39 हफ्ते टीके की दूसरी डोज लगने वाली तारीख से माना जाएगा। स्वास्थ्यर्कियों , फ्रंटलाइन वर्कर और बुजुर्गों को बूस्टर या एहतियाती डोज उनके मौजूदा कोविन अकाउंट के जरिये मिलेगा। इनको पुराने रजिस्टर्ड नंबर पर एसएमएस के जरिए भी बताया जाएगा कि उन्हें टीके की अगली डोज कब लगेगी।

किशोर-किशोरियों को दिया जा रहा है टीका

जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए विभाग प्रतिबद्ध है। अब 15 से 17 वर्ष तक के किशोर-किशोरियों का टीकाकरण शुरू किया गया है। जिले में विद्यालय स्तर पर टीकाकरण केंद्र बनाकर टीका लगाया जा रहा है। टीकाकरण के प्रति किशोर-किशोरियों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। बिना किसी झिझक और डर के टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचकर अपना टीका ले रहे हैं। किशोर-किशोरियों को कोवैक्सीन की डोज लगायी जा रही है। 28 दिन अंतराल पर सेकेंड डोज लगायी जायेगी।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here