छपरा: छोटा परिवार, सुखी जीवन का आधार: नवविवाहित जोड़े को दी जा रही है नयी पहल किट

0
  • नवदंपति को दी जा रही है परिवार नियोजन की जानकारी
  • परिवार कल्याण कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए स्वास्थ्य विभाग की पहल

छपरा: नवविवाहित जोड़ों को जनसंख्या स्थिरीकरण के साथ 2 बच्चों तक परिवार सीमित रखने के लिये प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से अब आशा कार्यकर्ता स्वास्थ्य विभाग की पहल पर नई पहल किट वितरित कर रही हैं। नवविवाहित जोड़े को नई पहल किट वितरित करने के साथ उन्हें परिवार नियोजन के लिए प्रेरित कर रही हैं । उन्हें गर्भ निरोधक साधनों की जानकारी दी जा रही है। नवविवाहित दंपतियों को परिवार नियोजन के तरीकों एवं संबंधित जानकारी सहित नई पहल किट प्रदान की जा रही है। उन्हें छोटा परिवार, सुखी परिवार की अवधारणा से अवगत करवाते हुए पहली व दूसरी संतान के बीच पर्याप्त अंतर एवं विवाह के बाद एक निश्चित अंतराल के लिये गर्भ निरोधक साधनों की जानकारी दी जा रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

किट में मिलेगी ये सामान:

केयर इंडिया के डीटीएल संजय कुमार विश्वास ने बताया कि इस किट में परिवार कल्याण व स्वास्थ्य मंत्री की ओर से बधाई पत्र, जूट का बैग, विवाह पंजीकरण फॉर्म, एक पंपलेट, कंडोम किट, गर्भ निरोधक गोलियां, तौलिया, सेंट, कंघी, दो सेट रुमाल, जानकारी कार्ड, शीशा,आशा कार्यकर्ता व एएनएम के मोबाइल नंबर, गर्भ जांच किट एवं इमरजेंसी कंट्रासेप्टिव पिल्स आदि रहेगा। इस किट में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से एक पत्र भी होगा, जिसमें परिवार नियोजन के फायदों के बारे में लिखा होगा। इस पत्र का उद्देश्य नवविवाहित जोड़ों को जनसंख्या स्थिरिकरण के लिए सचेत करने के साथ 2 बच्चों तक ही परिवार को सीमित रखने के लिए प्रोत्साहित करना है।

आशाओं को दी जा रही जानकारी:

नई पहल किट के संबंध में आशाओं को विस्तार से जानकारी दी गयी है। इसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ केयर इंडिया भी सहयोग कर रहा है। आशाओं को किट में मौजूद साधनों के इस्तेमाल के विषय में बताया जा रहा है। साथ ही यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि आशाएं नवविवाहित जोड़ों को परिवार नियोजन साधनों के विषय में सटीक जानकारी उपलब्ध करा पाएं।

योजना का उद्देश्य:

डीपीएम अरविन्द कुमार ने बताया कि इस योजना का उद्देश्य नवविवाहित जोड़ों को पारिवारिक और वैवाहिक जीवन के दायित्वों के लिए तैयार करना है। नए जोड़ों के लिए नई पहल किट में पति और पत्नी के लिए आपातकाल में प्रयोग की जाने वाली गर्भनिरोधक गोलियां, सामान्य गर्भनिरोधक गोलियां और कंडोम होंगे। इससे नवविवाहित जोड़े परिवार नियोजन के विभिन्न साधनों को जान सकेंगी एवं सुविधा अनुसार इसका इस्तेमाल भी कर सकेंगी।

दी जाती है ये जानकारी:

• विवाह के सही उम्र, लड़के के 21 एवं लड़की की 18 वर्ष

• शादी के बाद कम से कम दो वर्ष बाद पहला बच्चा

• पहले एवं दूसरे बच्चे में कम से कम तीन साल का अंतराल

• छोटा परिवार एवं समिति परिवार के लाभ

• परिवार नियोजन के स्थाई एंव अस्थाई साधन के बारे में जानकारी