बहनों से राखी बंधवाने के लिए पटना से दिल्ली जाने के पहले ही तेजप्रताप के तेवर भी बदल गए, कहा, कृष्ण-अर्जून की जोड़ी नही टूटेगी

0

पटना: पिछले कई दिनों से अपने बयानबाजी से चर्चा में रहे राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े पुत्र और विधायक तेजप्रताप यादव शनिवार शाम दिल्ली पहुंचे। रक्षाबंधन के मौके पर बहनों से राखी बंधवाने के लिए पटना से दिल्ली जाने के पहले ही तेजप्रताप के तेवर भी बदल गए। एक दिन पहले शुक्रवार को नेता विपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के दिल्ली जाने पर सवाल उठाने वाले तेजप्रताप ने छोटे भाई से अटूट संबंध होने का हवाला दिया। तेजप्रताप ने ट्वीट कर कहा कि कोई कितना भी षड्यंत्र रच ले, कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी को नहीं तोड़ सकेगा। मालूम हो कि तेजप्रताप अपने आप को कृष्ण तो तेजस्वी यादव को अर्जुन बताते हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पर तेजप्रताप ने तेजस्वी यादव को मुकुट पहनाते हुए पुरानी तस्वीर भी साझा की है। तेजप्रताप के इस ट्वीट को तेजस्वी यादव के सलाहकार कहे जाने वाले संजय यादव से जोड़कर देखा जा रहा है। क्योंकि तेजप्रताप संजय यादव को प्रवासी सलाहकार बताते हुए लगातार हमला करते रहे हैं। शुक्रवार को भी बयान दिया था कि संजय यादव हम दोनों भाइयों में विवाद पैदा करना चाह रहा है। तेजप्रताप ने संजय यादव पर दिल्ली में मॉल बनाने का भी आरोप लगाया था।

वहीं, राजद के नेता इसे भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी पर पलटवार बता रहे हैं। बता दें कि इससे पहले तेजप्रताप ने तेजस्‍वी को बच्‍चा, जगदानंद सिंह को महाभारत का ‘शिशुपाल’ और संजय यादव को दुर्योधन तक कह दिया था। यही नहीं, तेजस्वी के दिल्ली जाने पर सवाल उठाते हुए तेजप्रताप ने कहा था कि बिहार के लोग बाढ़ से मर रहे हैं और वह (तेजस्वी) लोगों को छोड़कर दिल्ली चला गया। पार्टी सूत्रों के अनुसार दिल्ली में तेजप्रताप और तेजस्वी दोनों हैं। हाल के दिनों में राजद में जो घमासान मचा है, उस पर लालू प्रसाद दोनों से इस मसले पर बातचीत करेंगे।

वहीं, शनिवार को लालू प्रसाद के विश्वस्त कहे जाने वाले राजद विधान पार्षद सुनील सिंह तेजप्रताप के दिल्ली जाने के पहले उनसे मिलने गए। मुलाकात के बाद सुनील सिंह ने फेसबुक पर तेजप्रताप को लालू प्रसाद के युवा काल की तस्वीर सौंपते हुए तस्वीर साझा की। साथ ही लिखा कि जदयू और भाजपा ने जो सपना पाला था, वह मुंगेरीलाल का हसीन सपना साबित होगा। दोनों भाइयों में कोई मनमुटाव नहीं है। नाहक मीडियाकर्मियों ने इसे तूल दे दिया।