छपरा के पागल प्रेमी ने प्रेमिका को पाने के लिए रची खौफनाक साजिश, खून खरीदकर बनाया क्राइम सीन

0

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

सारण में प्रेमिका को पाने और प्रेमी विवाह में अड़ंगा डाल रहे परिजनों को फंसाने के लिए खौफनाक साजिश रची गई। तीन दिन पहले प्रेमिका के घर के पास ही प्रेमी की हत्या की अफवाह उड़ाई गई। पुलिस ने जांच शुरू की और जिस युवक की हत्या की बात कही जा रही थी, उसे जिंदा बरामद करते हुए मामले का खुलासा कर दिया। घटना मशरक के अरना बलुआ टोला गांव की है। रविवार सुबह युवक के परिजनों ने आरोप लगाया था कि गर्लफ्रेंड के परिजनों ने हत्या कर दी है और शव को गायब कर दिया।

परिजनों ने लोहे की खंती से वारकर निर्मम हत्या का आरोप लगाया था। पुलिस की छानबीन में खुलासा हुआ कि प्रेमी-प्रेमिका ने ही मिलकर इस झूठे हत्याकांड की साजिश रची थी।बताया जाता है कि मुन्ना साह (25 वर्ष) एक युवती से प्रेम विवाह करना चाहता था। प्रेम विवाह में परिजन परेशानी खड़ा कर रहे थे। परिजनों को फंसाने की नियत से यह साजिश रची गई थी। युवक ने प्रेमिका की चाची (पेशे से सरकारी शिक्षक) को भी लपेटकर पूरे मामले को नया तूल देने की कोशिश की।

युवती ने एक तीर से दो निशाना साधने का प्लान बनाया। इससे प्रेम में अड़ंगा बन रहे परिजनों से भी छुटकारा मिल जाए और परिवार विवाद के चलते प्रेमिका के चाचा-चाची को भी फंसाया जा सके। पुलिसिया पूछताछ में प्रेमी-प्रेमिका ने इसका खुलासा किया। प्रेमिका ने बताया, ‘इस घटना के कुछ दिन बाद प्रेमी के साथ छपरा से बाहर जाकर शादी कर लेती और अपना परिवार बसा लेती। दोनों की अलग अलग जाति होने के कारण शादी करने में परेशानी हो रही थी। इसको लेकर पूर्व में कई बार गांव स्तरीय पंचायत भी हुआ है।’

सूत्रों की मानें तो युवक ने अपने दोस्तों संग मिलकर चांद बरवा गांव निवासी चार चक्का कार सवार को किराये पर लेकर ब्लड बैंक से खून लाकर जहां-तहां गिरा दिया, ताकि घटना को हत्या का रंग दिया। हालांकि, इसका खुलासा फोरेंसिक टीम की जांच रिपोर्ट के बाद ही हो पायेगा।

पुलिस इन सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। युवक से भी पूछताछ कर रही है। साथ ही पुलिस प्रेमी के भाई और दो अन्य लोगों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हत्या के षड्यंत्र को लेकर पहले दिन ही युवक के भाई एवं युवती की मां ने मशरक थाना में FIR दर्ज कराई थी।

हत्या मानकर तीन दिन परेशान रही पुलिस

तीन दिनों से पुलिस ने परिजनों के कहने पर युवक को मृत समझ शव की तलाश में मशरक के सीमावर्ती थाना के अलावा सीवान के बसन्तपुर एवं गोपालगंज के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के गांव-चवर और नदी के किनारे को तलाशती रही, पर कोई सफलता नहीं मिली। सारण पुलिस कप्तान संतोष कुमार के निर्देश पर पुलिस ने मोबाइल ट्रैक किया गया। इसके बाद दरियापुर थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा ने युवक को लोकेशन के आधार पर दबोच लिया।

दोनों पक्ष से दर्ज कराई है प्राथमिकी

हत्या के षड्यंत्र को लेकर युवक के भाई व युवती की मां द्वारा मशरक थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। युवक के भाई अरुण कुमार से ने दर्ज कराई गई प्राथमिकी में कहा है कि उसका छोटा भाई मुन्ना आर्केस्ट्रा देखने गया तो लौट कर नहीं आया। अगलगी सुबह चन्द्रमा साह के घर के पास खून का धब्बा दिखा फिर टुनटुन साह के बन्द घर के अंदर खून दिखा। संजू कुमारी, पिता धर्मनाथ ठाकुर के भाई ने एक माह पूर्व अपनी बहन से मिलने को मना कर जान मारने की धमकी दी थी।