छपरा : जनप्रतिनिधियों के साथ जिलाधिकारी ने की वर्चुअल मीटिंग

0
  • कोरोना संक्रमण के रोकथाम एवं टिकाकरण के अधतन की दी जानकारी
  • संक्रमण को रोकने के जिला प्रशासन द्वारा किये गए कार्यों की जनप्रतिनिधियों ने की सराहना
  • आमजनों को जागरूक करने के लिए सहयोग की अपील

छपरा : जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे ने समाहरणालय स्थित एनआईसी में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के जनप्रतिनिधियों सारण के सांसद राजीव प्रताप रूडी, महाराजगंज के सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, एमएलसी वीरेंद्र नारायण यादव समेत विधायकों के साथ वर्चुअल मीटिंग की। इस दौरान जिलाधिकारी ने जिले में संक्रमण के रोकथाम के लिए किए गए तैयारी हो कोविड-19 टीकाकरण के प्रगति की अद्यतन स्थिति की जानकारी दी। जिला अधिकारी के द्वारा बताया गया कि राज्य सरकार के द्वारा जो मार्गदर्शन प्राप्त हुआ है, उसका शत-प्रतिशत अनुपालन जिले में कराया जा रहा है। कोरोना से बचाव के जो कारगर तरीका है उसके बारे माईकिंग के माध्यम से जागरूक किया जा रहा है। जहां भी कोरोना संक्रमण के पॉजिटिव केस मिल रहे हैं, वहां माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित कर इलाके को सील किया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

माइक्रो कंटेनमेंट जोन में आने वाले प्रत्येक व्यक्तियों की कोविड 19 की जांच की जा रही है। जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे ने बताया कि अभी तक छपरा नगर निगम क्षेत्र में 13, दिघवारा में 9, इसुआपुर में 6, दरियापुर में 6, बनियापुर में 5 सहित कुल 52 कंटेनमेंट जोन एक्टिव है। छपरा शहर, सोनपुर एवं रिविलगंज नगरीय क्षेत्र में अधिक मामले पाए गए हैं। जहां पर टीकाकरण में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में कल यानि 10 अप्रैल को 19380 लोगों को टिका दिया गया है। अब इसे बढ़ाकर प्रतिदिन 25000 टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में अब तक 184000 लाभार्थियों को पहला डोज का टीका दिया जा चुका है। वहीं 25579 लोगो को दूसरा डोज दिया गया है। जिलाधिकारी के इस पहल तथा जिला प्रशासन के द्वारा किए गए सकारात्मक कार्यों की जनप्रतिनिधियों के द्वारा सराहना की गई।

टीकाकरण केंद्र के संख्या में की गई है बढ़ोतरी:

जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे ने बताया कि टीकाकरण के समय कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन कराया जा रहा है। टीकाकरण केंद्रों पर अधिक भीड़ ना हो इसको देखते हुए टीकाकरण केंद्र की संख्या बढ़ाई गई है। अभी तक 225 बेड तैयार रखा गया है तथा सभी को ऑक्सीजन युक्त किया जा रहा है। जिला प्रशासन किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। छपरा और सोनपुर जंक्शन पर भी लगातार जांच अभियान चलाया जा रहा है। कल छपरा जंक्शन से जांच में 9 पॉजिटिव व्यक्ति पाए गए हैं । जिला भर में मास्क ड्राइव चलाया जा रहा है और इसके माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है । अभी तक 3908 लोगों से फाइन भी वसूला गया है।

जनप्रतिनिधियों ने दी है कई महत्वपूर्ण सुझाव:

वर्चुअल मीटिंग के दौरान जनप्रतिनिधियों तथा सांसद व विधायकों के द्वारा कोरोना संक्रमण के रोकथाम को लेकर कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए। जनप्रतिनिधियों द्वारा लोगों को जागरूक करने के लिए माइकिंग की व्यवस्था करने और उसकी वीडियोग्राफी कराने तथा लोगो के बीच मास्क वितरण कराने का सलाह दिया गया। जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के द्वारा दिए गए सुझाव पर कार्य किया जाएगा। इस दौरान कोरोना संक्रमण के रोकथाम को लेकर विस्तार से चर्चा की गई तथा समुदाय स्तर पर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में जिलाधिकारी के द्वारा जानकारी दी गई।

जनप्रतिनिधियों के द्वारा प्रखंड स्तर पर किए जा रहे कार्यों एवं गतिविधियों की जानकारी उपलब्ध कराने तथा संपर्क बनाए रखने की बात जिला अधिकारी के द्वारा कही गई जिलाधिकारी ने कहा कि यह लड़ाई सब की है और सभी को मिलकर लड़ रहा है तभी करो ना कि चुनौती से निपटा जा सकेगा जिलाधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन आप सभी की महकती सुझावों को लागू कराने का काम करेगी। इस बैठक में सारण के सांसद राजीव प्रताप रूडी, महाराजगंज के सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, एमएलसी वीरेंद्र नारायण यादव, जिले के सभी विधायक शामिल थे। एनआईसी में जिलाधिकारी के साथ उप विकास आयुक्त अमित कुमार, अपर समाहर्ता डॉ गगन, सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी, सदर एसडीओ अरुण कुमार सिंह, डीपीएम अरविंद कुमार समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।