छपरा: वीडियो कन्फ्रेसिंग के माध्यम से डीएम ने की समीक्षा, लॉक डाउन का कड़ाई से पलान कराने का दिया निर्देश

0
  • कोरोना संक्रमण के चैन को तोड़ना है लॉक डाउन का उद्देश्य
  • बिना किसी जरूरी कार्य के घरों बाहर नहीं निकलनें की अपील
  • ऑक्सीजन एवं जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी पर नजर रखने के लिए टीम गठित

छपरा: जिलाधिकारी डॉ निलेश राम चन्द्र देवरे और पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार द्वारा वीडियो कंफ्रेंसिंग के माध्यम से पदाधिकारियों को लॉक डाउन का कड़ायी से अनुपालन कराने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि लॉक डाउन का उद्देश्य कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ना था परन्तु प्राय: यह देखा जा रहा है कि लोग सड़कों पर अभी भी बड़ी संख्या में निकल रहे हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सदर अनुमंडल में 32, मढ़ौरा में 16 तथा सोनपुर में 12 स्थानों को चिन्हित कर पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की गयी है, जहाँ दो शिफ्ट में क्रमश 66, 32 एवं 24 पुलिस पदाधिकारी भी लगाये गये हैं। उन्होने कहा कि सभी जगह रोको-टोको अभियान चलाया जाय और विशेष परिस्थिति में ही लोगों आगे जाने दिया जाय अन्यथा उन्हें वापस भेजा जाये। वीडियो कांफ्रेंसिंग में जिलाधिकारी ने कहा कि जो दुकानें नहीं खुलनी है उसे पूर्णत: बंद करवा दिया जाये, उसे सील कर दिया जाये तथा जिन क्षेत्रों में दुकानें खोलने की सूचना मिले वहाँ तुरंत एक्शन लेकर कड़ाई किया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि लाक डाउन के बाद शहरी क्षेत्रों में कोविड पॉजीटिव दर में काफी गिरावट आयी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

WhatsApp Image 2021 05 11 at 8.53.29 PM

घरों पर हीं अदा करें नमाज

जिलाधिकारी डॉ. नीलेश रामचंद्र देवरे ने कहा कि 13 या 14 मई को ईद मनाने की है। इस अवसर पर लोग अपने घरों पर ही नमाज अदा करेंगे और पर्व भी घर में ही मनायेंगे। सामूहिक नमाज अदा नहीं की जाएगी। क्षेत्रीय पदाधिकारियों को भी इस संबंध में जरूरी निर्देश दिया गया।

अगले दो दिनों में 12 हजार करें कोविड-19 जांच

वीडियो कन्फ्रेंसिंग में डीएम ने निर्देश दिया कि कोरोना जांच की रफ्तार को बढ़ाते हुए अगले दो दिनों में 12 हजार सैंपल जांच किया जाये। जिलालिकारी ने कहा कि वैसे स्थान जहाँ से मृत्यु की सूचना मिल वही है वहाँ के आसपास के सभी लोगों की जाँच करायी जाय। जिले में पॉजिटीविटी दर में भी गिरावट आयी है। जिला का पॉजिटीविटी दर अभी 8 है। जहाँ मढौरा, सदर छपरा, बनियापुर, रिविलगंज, नगरा में तीन से नीचे है। वहीं परसा में 22, इसुआपुर में 19, मकेर में 19 और दरियापुर में 17 बना हुआ है।जहां विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

ऑक्सीजन एवं जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी पर नजर रखने के लिए टीम गठित

पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने बताया कि तीनों अनुमंडल में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी की अध्यक्षता में टीम का गठन किया गया है। जो ऑक्सीजन एवं जीवन रक्षक दवाओं की ब्लैकमार्केटिंग पर नजर रखेंगे और छापेमारी कर जरूरी कार्रवाई करेंगे। वीडियो कन्फ्रेंसिंग में जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के साथ उपविकास आयुक्त, अपर समहर्ता (विभागीय जांच), सिविल सर्जन, एसडीओ, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और सभी थाना प्रभारी जुड़े हुए थे।