छपरा: कोरोना काल में कई नवजात रह गये टीकों से वंचित

0

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के दौरान नवजात को जीवन रक्षक कई टीके नहीं लग पाये थे लेकिन अब जिले में सदर अस्पताल से लेकर सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और आंगनवाड़ी केंद्रों पर टीकाकरण किया जा रहा है। मालूम हो कि अप्रैल से लेकर मई तक बच्चों के नियमित टीकाकरण पर संक्रमण का प्रभाव रहा। यही कारण है कि कुछ बच्चों को समय से टीका नहीं लग पाया लेकिन स्वास्थ्य प्रशासन की ओर से उन सभी बच्चों को टीकाकरण लगाया जा रहा है। कोरोना संक्रमण की चपेट में कई एएनएम, ए ग्रेड नर्स, महिला स्वास्थ्य कर्मी और आंगनवाड़ी सेविका आ गई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

कोरोना वैक्सीनेशन में भी महिला स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया गया था। इस वजह से भी टीकाकरण प्रभाव पड़ा। अब छपरा सदर अस्पताल स्थित मॉडल टीकाकरण केंद्र पर पल्स पोलियो, बीसीजी, हैपेटाइटिस बी, पेंटावेलेंट, पोलियो इंजेक्शन , मीजल्स ,एमआर का टीकाकरण हो रहा है। अब आंगनवाड़ी केंद्रों पर भी बच्चों को नियमित टीकाकरण किया जा रहा है। वही रखरखाव के लिए भी डीप फ्रीजर की व्यवस्था प्रतिरक्षण कार्यालय में और इसके लिए जो बनाए गए कोल्ड चैन में की गई है।